उत्तराखंड : युवक ने ब्लेड से काटा अपना गला, तड़पते हुए बता डाला अपना दर्द, खौफनाक कदम से लोगों को दहला दिल

ससुराल से कुछ ही दूरी पर रामपुर के एक युवक ने ब्लेड से अपना गला काट लिया। गंभीर हालत में उसे सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसके परिजनों ने ससुरालियों पर बंधक बनाने का आरोप लगाया है तो वहीं ससुराल पक्ष ने उसकी मानसिक स्थित खराब होने और उसका इलाज चलने की बात कही है।

रामपुर के टांडा निवासी रिजवान (25) की ससुराल मलिक के बगीचे में है। कुछ दिन से वह ससुराल में रह रहा था। गुरुवार सुबह नौ बजे ससुराल से कुछ दूर आजाद नगर के लाइन नंबर 16 में सरेराह वह ब्लेड से अपना गला काटने लगा। उसे खून से लथपथ देख लोगों में खलबली मच गई। लोगों ने उसके हाथ से ब्लेड छीन लिया तो उसके बाद वह अंगुली डालकर घाव को बढ़ाने का प्रयास करने लगा।

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने दी यहा आज 34 करोड़ से अधिक की सौगात

इस बीच सूचना पर पुलिस पहुंच गई। वहां पहुंचे पार्षद महबूब आलम ने लोगों के साथ रिजवान को बेस अस्पताल पहुंचाया लेकिन हालत गंभीर होने की वजह से सुशीला तिवारी अस्पताल रेफर कर दिया गया। फिलहाल घायल की हालत नाजुक बताई जा रही है

अस्पताल में भर्ती रिजवान ने पुलिस को खुद ही गले पर ब्लेड मारने की बात बताते हुए कहा कि वह टेंशन में है। चिकित्सकों का कहना है कि रिजवान की श्वांस नली को नुकसान तो नहीं हुआ है लेकिन खून ज्यादा बहने की वजह से बीपी की परेशानी हुई और दिक्कत बढ़ गई है। बताया जा रहा है कि रिजवान और उसकी पत्नी के बीच आए दिन कलह की स्थिति बनी रहती थी। एसओ बनभूलपुरा नीरज भाकुनी का कहना है कि घायल का इलाज चल रहा है। किसी पक्ष की ओर से कोई लिखित शिकायत नहीं दी गई है फिर भी मामले की जांच की जा रही है। तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के तहत बाल वाटिका के शुभारम्भ करने वाला उत्तराखण्ड पहला राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश में शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 एक नया क्रान्तिकारी परिवर्तन है।

क्षेत्रीय पार्षद ने बताया कि ससुराल से निकलने के बाद रिजवान हल्द्वानी की तरफ आ रहा था। उसी दौरान रास्ते में एक दुकान से ब्लेड खरीदा और बिना रुपये दिए वहां से चल दिया। दुकानदार रुपयों के लिए आवाज लगा ही रहा था कि उसी समय एक टेंट हाउस के पास पहुंचकर रिजवान ने अपने गले पर ब्लेड से तीन बार वार कर दिया।

एसटीएच में रिजवान को भर्ती करने के बाद उसके परिजन और ससुराल वालों के बीच जमकर हंगामा हुआ। रिजवान के बड़े भाई मसूर अहमद ने बताया कि तीन दिन पहले ही रिजवान की पत्नी हिना उसे लेकर मलिक का बगीचा स्थित मायके पहुंची थी। इसके बाद से तीन दिनों से रिजवान को कैद किया हुआ था। साथ ही उन्होंने घटना के लिए पत्नी, सास और ससुर को जिम्मेदार ठहराया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here