प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले सप्ताह देवप्रयाग में संगम आरती कर सकते हैं। उनका 10 व 11 फरवरी को भागीरथी और अलकनंदा नदी के संगम देवप्रयाग आने का कार्यक्रम तय किया जा रहा है। मोदी के दौरे से भाजपा को कुछ कमजोर सीटों पर संजीवनी मिलने की उम्मीद है।

उत्तराखंड में पार्टी की चुनावी संभावनाओं के बारे में अंदरखाने मिली जानकारी पर भाजपा के रणनीतिकार चिंतित और सक्रिय हो गए हैं। प्रदेश में कुछ सीटों पर भाजपा की स्थिति चिंताजनक है। संगठन में इस बात की आवश्यकता महसूस की जा रही है कि मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दो-तीन दौरे होने से कमजोर सीटें भी भाजपा के पक्ष में आ सकती है।

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने टनकपुर में  4275.48 लाख रूपये की योजनाओं का किया लोकार्पण और शिलान्यास, ओर ये की महत्वपूर्ण घोषणाये

पार्टी सूत्रों के मुताबिक मोदी हरकी पैड़ी पर आरती करने के बजाए देवप्रयाग संगम स्थल पर आरती कर सकते हैं। उनका 10 व 11 फरवरी को आने की संभावना है। देवप्रयाग से ही मोदी वर्चुअल संबोधित कर सकते हैं। मोदी के दौरे को लेकर भाजपा भी अप्रत्यक्ष रूप से तैयारी में जुटी है।

गढ़वाल के बाद भाजपा कुमाऊं में भी मोदी का चुनावी दौरा कराने की तैयारी कर रही है। हालांकि भाजपा ने 7 से 11 फरवरी क पीएम मोदी के प्रदेश की पांच लोक सभा सीटों में वर्चुअल जन चौपाल कार्यक्रम तय कर दिए हैं। जिसमें लोकसभा क्षेत्र के अधीन आने वाले प्रत्येक विधानसभा क्षेत्रों में चार स्थानों पर एक-एक हजार लोगों को मोदी संबोधित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here