हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

ख़बर नैनीताल  से जहा तहसील के दूरस्थ अमगढ़ी गांव में रविवार शाम हुई मूसलाधार बारिश के बाद फिर भूस्खलन हो गया।  इस वजह से  तीन ग्रामीणों के मकान मलबे में दब गए हैं। बचने के प्रयास में एक महिला नीमा देवी का पैर टूट गया,  फिलहाल ग्रामीणों को गांव के ही इंटर कॉलेज में ठहराया गया है।

बात दे कि  नैनीताल तहसील का अमगढ़ी गांव का तोक खैराड़ भूस्खलन प्रभावित है। ग्राम प्रधान गंगा नैनवाल, प्रधान प्रतिनिधि गणेश नैनवाल ने बताया कि रविवार शाम गांव में जोरदार बारिश हो रही थी। शाम करीब साढ़े पांच बजे खैराड़ तोक के ऊपर की पहाड़ी पर फिर से बड़ा भूस्खलन हो गया। मलबा गांव की ओर आया और तीन लोगों जीवानी राम, चंदन राम व नीमा देवी के मकान मलबे में दब गए। उन्होंने बताया कि बीते दिनों गांव में भूस्खलन के बाद प्रशासन ने यहां के करीब बीस परिवारों को गांव के इंटर कॉलेज में ठहरवाया है।रविवार को खैराड़ तोक के ये परिवार दोपहर में अपने खेतों में काम के लिए गए थे। इसके बाद शाम को सभी भोजन करके वापस इंटर कॉलेज में रहने आते हैं। इसी बीच, शाम के समय भूस्खलन हो गया।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड के इस अस्पताल ने छिपाई जानकारी, 19 दिन बाद हुआ 65 मरीजों की मौत का खुलासा

उत्तराखंड में आफत बनी बारिश, नैनीताल में भूस्खलन से तीन मकान दबे, एक महिला का पैर टूटा 

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here