हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

प्रदेश मे कर्मचारियो के सर्वमान्य नेता के तौर पर पहचान बना चुके तथा कार्मिक वर्ग के प्रखर नेता दीपक जोशी को दी गयी उत्तराखंड कार्मिक एकता मंच की कमान।

देहरादून-

deepak joshi

उत्तराखंड कार्मिक एकता मंच की कल  सम्पन्न वेबिनार में विकास में बाधक हड़तालों के प्रति जवाबदेही के लिए शहीदों के सपने के रूप में आवाज दो हम एक हैं, के नारे को धरातल पर साकार करने का संकल्प लिया गया । तय किया गया कि आगामी 1अक्टूबर को शहीद स्थल देहरादून में विचार गोष्ठी का आयोजन किया जाएगा और 2अक्टूबर को रामपुर तिराहा स्थित शहीद स्थल में शहीदों को श्रद्धांजलि दी जायेगी ।

वेबिनार में कार्मिको के ब्यापक हित और कार्मिको के प्रति समर्पण को देखते हुए कार्मिको के हितैषी तथा वर्तमान मे सम्पूर्ण प्रदेश मे प्रखर कर्मचारी नेता   दीपक जोशी को सर्वसम्मति से बैठक में आमन्त्रित कर एकता मंच का कार्यकारी अध्यक्ष मनोनीत किया गया । वेबिनार में कार्मिकों संघों की मौजूदा स्थिति पर गहन मंथन के बाद निष्कर्ष निकाला गया कि कार्मिकों की समस्याओं के लिए सरकार की भूमिका के साथ ही कार्मिक संघो की भूमिका भी ठीक नहीं है । कहां गया कि राज्य प्राप्ति के लिए अपनी कुर्सी तक को दांव में लगाने वाला कार्मिक समुदाय आज जब अपने सेवा सम्बन्धी मामलों के लिए आवाज उठा रहा है तो उसकी आवाज को जिस तरह से दबाया जा रहा है वह दुर्भाग्यपूर्ण है । इस स्थिति से उबरने के लिए एकमात्र विकल्प यही माना गया कि राज्य का समूचा कार्मिक समुदाय एक मंच पर आये । सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि आम कार्मिकों की भावनाओं के अनुरूप सभी कार्मिक संघों के शीर्ष स्तर पर एक सर्वमान्य व सशक्त महासंघ का गठन किया जाय ।

यह भी पढ़े :  अधिकारियो सुन लो : 2024 से पहले हमें गाँव गाँव ,हर घर जल पहुंचाना है: त्रिवेंद्र

एकता मंच के अध्यक्ष रमेश चंद्र पाण्डे ने कहा कि आज कार्मिकों की अनेक ज्वलंत समस्याएं हैं जिनके समाधान हेतु अपेक्षा कार्मिक संघों से ही है लेकिन संघों की मौजूदा स्थिति से आम कार्मिक निराश हैं । जिसके लिए पहली जरूरत सबको एक मंच पर आने की है ।उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में अपने लक्ष्य से भटक कर संगठनों की ताकत का इस्तेमाल आपस में ही एक दूसरे के वजूद को मिटाने में लिप्त संगठनों के नेताओं को यह सोचना ही होगा कि इसका खामियाजा आम कार्मिकों को उठाना पड़ रहा है । कहा कि इसके चलते सरकार ज्वलंत मुद्दों पर पीठ फेरे है और राज्य में ब्यूरोक्रेसी पूरी तरह हावी है ।

कार्मिक एकता मंच के नवमनोनीत कार्यकारी अध्यक्ष दीपक जोशी ने मंच के नेतृत्व का दायित्व सौंपने के लिए प्रदेश कार्मिक वर्ग का आभार जताते हुए आश्वस्त किया कि मंच के अध्यक्ष रमेश चंद्र पाण्डे के नेतृत्व में जवाबदेही के लिए छेड़ी गई एकता की मुहिम को मुकाम तक पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे तथा शीघ्र ही सभी कार्मिक संगठनो को एक सूत्र मे पिरोते हुये कार्मिक एकता मंच को सुदृढ किया जायेगा, साथ ही सभी कार्मिक सेवा संघो की आपसी सहमति से मंच के नाम व स्वरूप को आमूल चूल परिवर्तन के साथ इसे विधिक मान्यता प्रदान कराते हुये कार्मिको की जायज व काँमन मांगो पर इस संगठन के माध्यम से सभी को साथ लेकर कार्मिक हित साधे जायेंगे।

यह भी पढ़े :  इंटरनेट मीडिया कंपनियों के बंद होने की खबरों के बीच फेसबुक का बड़ा बयान, कहा- मानेंगे नियम

एकता मंच के संयोजक सीताराम पोखरियाल ने कहा कि आगामी दो अक्टूबर को शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम सब एक होकर शहीद स्थल में पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दें। चार घंटे से अधिक समय तक चली वेबिनार का संचालन महासचिव दिगम्बर फुलोरिया व मण्डलीय संयोजक सीताराम पोखरियाल द्वारा संयुक्त रूप से किया गया ।

वेबिनार को मंच के संरक्षक पंकज काण्डपाल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष धीरेन्द्र पाठक, रविन्द्र कुमार, नितिन खण्डन, मुकेश बहुगुणा, नरेश कुमार भट्ट, पूरन जोशी, पुष्कर पंवार, आन्द सिंह, महेश गिरी, अनिल बलूनी , विक्रम झिंकवान, विनोद यादव, शोभित बहुगुणा, आदि ने सम्बोधित किया ।

दिगम्बर फुलोरिया
महासचिव

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here