पेटेंट कॉपीराइट व ट्रेडमार्क की भूमिका और उपयोगिता को समझना जरूरी

स्कूल आफ फार्मास्यूटिकल सांईसेस, श्री गुरू राम राय विश्वविद्यालय मे वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय DPIIT भारत सरकार, नई दिल्ली, ने संयुक्त रूप से “आजादी का अमृत महोत्सव-2022” के तहत विषय बौद्धिक संपदा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
बौद्धिक संपदा जागरूकता कार्यक्रम के तहत छात्रो को पेटेंट, ट्रेडमार्क, कॉपीराईट इत्यादि की महत्वता तथा बारीकियों पर विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई गई। इस कार्यक्रम मे स्कूल आफ फार्मास्यूटिकल साईसेस के 300 छात्र/छात्राओं ने प्रतिभाग किया तथा सभी छात्र/छात्राओं को ई. सर्टिफिकेट से लाभान्वित किया गया। इस कार्यक्रम के मुख्य वक्ता श्री शैलेन्द्र सिंह ने छात्रों को पेटेंट, ट्रेडमार्क, कॉपीराईट फाइलिंग और इसमें आने वाली समस्याओं व इसके निस्तारण के बारे मे विस्तार पूर्वक छात्रों का ज्ञान वर्धन किया, इसी क्रम मे रजिस्ट्रार प्रो0 डा. दीपक साहनी एवं डीन डा. अलका एन. चौधरी ने रचनात्मकता व नवीन प्रक्रिया पर अपने-अपने विचार व्यक्त करके छात्रों को प्रेरित किया। बौद्धिक संपदा जागरूकता कार्यक्रम के सफल आयोजन पर वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ;क्च्प्प्ज्द्ध भारत सरकार, नई दिल्ली द्वारा स्कूल आफ फार्मास्यूटिकल साईसेस को प्रशंसा पत्र प्रदान किया गया।

यह भी पढ़े :  CM तीरथ ने किया जिला चिकित्सालय बौराड़ी का निरीक्षण, ऑक्सिजन जनरेशन प्लांट को जल्द पूरा करने के निर्देश

श्री शैलेन्द्र सिंह, वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय DPIIT भारत सरकार, नई दिल्ली, मे पेटेंट एवं डिजाइन के परीक्षक है। इस मौके पर यूनिर्वसिटी के कुलपति प्रो0 डा. यू0एस0रावत, कुलसचिव प्रो0 डा. दीपक साहनी, डीन डा. अलका एन. चौधरी, मुख्य प्रशासक डा. मनोज गहलोत, डा. मीनाक्षी भट्ट, डा. अर्चना गहतोडी, श्रीमति शैफी खुराना टांगरी, सभी विभागाध्यक्ष, शिक्षकगण एंव छात्र/छात्रा उपस्थित रहेे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here