हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

 

*मंत्री के वादे का बना रहा शिक्षा विभाग मजाक, विभागों के चक्कर काट रही शिक्षक भर्ती फ़ाइल।*

विगत एक महीने से ज्यादा समय से निदेशालय में धरनारत डायट प्रशिक्षितों को अभी भी विभाग की ओर से कोई राहत देखने को नहीं मिल रही है। बार बार विभागीय अधिकारियों से मिलने के बाद भी कोई कार्यवाही होती नहीं दिख रही। ज्ञात हो कि विगत 1 सितंबर को कोर्ट से भर्ती पर स्टे हटने के बाद माननीय शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने 20 दिनों के अंदर प्रशिक्षितों को नियुक्ति देने का वादा किया था किंतु प्राप्त जानकारी के अनुसार यही लगता है कि विभाग मंत्री जी के वादे की हरप्रकार से नाफ़रमानी कर रहा है इससे डायट डीएलएड प्रशिक्षितों में बहुत रोष है।
डायट संघ के सचिव हिमांशु जोशी व शुभम पंत अपने प्रतिनिधि मंडल के साथ लगातार विभागीय अधिकारियों से सम्पर्क कर भर्ती मामले का संज्ञान लेने की क़ोशिश कर रहे हैं किंतु अधिकारियों द्वारा आश्वासन के अलावा कोई कार्यवाही होती दिखाई नहीं दे रही है।
हम विगत एक महीने से निदेशालय में लगातार धरनारत है और जब तक नियुक्ति नहीं मिल जाती तब तक लगातार निदेशालय में डटे रहेंगे। जरूरत पड़ी तो धरनानीतियों को उग्र कर विभाग को पुनः चेताया जाएगा। विभाग हमारी शांति को कमजोरी समझने की भूल ना करे। हमने पहले भी रैली/धरना आदि कार्यों से अपनी मांग स्वीकार करने और शासन को मजबूर किया है इसलिए हम यही मांग करते हैं कि विभाग मंत्री जी के वादे का तय समय सीमा में पूर्ण कर हमें विद्यालयों में सेवा का अवसर प्रदान करें।

यह भी पढ़े :  पंचतत्व में विलीन हुए उत्तराखंड के वीर सपूत शहीद मंदीप, अंतिम विदाई को उमड़ा जन सैलाब, सीएम तीरथ ने दी श्रद्धांजलि

डायट रुद्रप्रयाग की प्रशिक्षित तनुजा नेगी का कहना है कि
दुर्गम इलाकों से यहाँ हमारे साथी इकट्ठा हुए है सिर्फ इसलिए कि 2 वर्षों से जो बेरोजगारी का दंश हम झेल रहे हैं उससे विभाग हमें मुक्ति दिलाएं।
पहले विभाग कोर्ट केस का बहाना बनाकर भर्ती को टालता रहा परन्तु कोर्ट केस से स्टे हटने के बाद अब गेंद विभाग के पाले में है और विभाग को मंत्री जी के वादे अनुसार तय समय पर भर्ती को पूर्ण करना चाहिए ताकि हम भी विद्यालयों में जाकर सेवा प्रदान कर सके।

अल्मोड़ा डायट से मनीषा चौहान का कहना है कि पहले कोर्ट केस के चक्कर में भर्ती की फ़ाइल आगे नहीं बढ़ रही थी और भर्ती की फ़ाइल कभी निदेशालय तो कभी सचिवालय के चक्कर काट रही है पर भर्ती है कि पूरी होने को नहीं आ रही।
हमारी विभाग से गुजारिश है कि कोरोना की तीसरी लहर का डर लगातार बढ़ता जा रहा है इसलिए उससे पहले हमारी भर्ती को पूर्ण कर विभाग हम डायट प्रशिक्षितों पर उपकार करे।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड से बड़ी ख़बर : आईएएस सचिन कुर्वे को सचिव आबकारी और उधोग बनाया गया ,सचिव आनंद वर्धन से आबकारी की जिम्मेदारी हटाई गई ।

मंत्री जी के वादे के बाद हमने क्रमिक अनशन की समाप्ति की घोषणा करदी थी किंतु नियुक्ति मिलने तक धरना जारी रहेगा। अगर विभाग ने जल्दी इस पर कार्यवाही कर कोई सकारात्मक परिणाम नहीं दिया तो पुनः धरना को अगर रूप देने पर हम मजबूर होंगे और इसकी पूरी जिम्मेदारी विभाग की होगी।।
हम शासन व प्रशासन से गुहार करते हैं कि जल्दी ही हमारी भर्ती पूरा कर हमें नियुक्ति पत्र प्रदान करें।
आज धरने में हिमांशु जोशी, शुभम पंत, दीक्षा राणा, मन्नू सरोज, प्रकाश दानू, धर्मेंद्र रावत, प्रकाश रानी, श्वेता शर्मा, संदीप, राकेश राणा, मदन फर्त्याल, नवीन कंडियाल, दीपक बिष्ट, तनुज नेगी, अरविंद नेगी, धर्मेंद्र रावत, मनोज राणा, अमरदीप, शिखा, गौरव रावत, पंकज डंगवाल, गौरव यादव, मानवेन्द्र भंडारी, संदीप थपलियाल, राजेन्द्र भट्ट, रवेंद्र, दीपक रावत, तृप्ति जोशी, दीपिका, अनूप बिष्ट,रजत, नितिन, नीतीश, शुभम शाह, हेमंत लोबियाल, उपेंद्र मेहता, मुकेश चौहान, गुंजन रावत, मुकेश बोरा, अखिलेश,मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here