हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

देहरादूनः उत्तराखंड के उच्च शिक्षा राज्यमंत्री व प्रभारी मंत्री डा. धन सिंह रावत के साथ शनिवार शाम को भाजपा के कुछ नेता भी बदरीनाथ धाम पहुंच गए, जबकि कोरोना संक्रमण के चलते तीर्थयात्रा स्थगित है और तीर्थपुरोहितों को भी सीमित संख्या में धाम भेजा गया है। ऐसे में भाजपा नेताओं के धाम पहुंचने पर तीर्थ पुरोहितों के साथ ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इसे कोरोना गाइड लाइन का उल्लंघन बताया है। पुरोहितों ने भी शासन-प्रशासन से धाम जाने की अनुमति देने की मांग उठाई है।

प्रभारी मंत्री डा. धन सिंह रावत 19 मई से जिले के भ्रमण पर हैं। शनिवार को उर्गम घाटी में जन समस्याएं सुनने और सीएचसी जोशीमठ का निरीक्षण करने के बाद मंत्री बदरीनाथ धाम पहुंचे। उनके साथ चमोली भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, चमोली जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष गजेंद्र सिंह बिष्ट व श्रीनगर के एक भाजपा पदाधिकारी के साथ ही एक-दो अन्य पदाधिकारी भी धाम पहुंचे।

एक भाजपा नेता ने धाम में मंत्री के साथ खिंचवाई फोटो को सोशल मीडिया (फेसबुक) पर सार्वजनिक कर दिया, जिसके बाद यह फोटो वायरल होने लगी। भाजपा नेताओं के धाम पहुंचने पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष बीरेंद्र सिंह रावत और कांग्रेस के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता तेजवीर कंडेरी का कहना है कि भाजपा के मंत्री ही कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन कर रहे हैं। धाम पहुंचे कुछ भाजपा नेताओं की ओर से मास्क भी नहीं पहने थे। यह घोर लापरवाही है।

तीर्थ पुरोहित आशुतोष का कहना है कि शासन-प्रशासन ने उन्हें धाम जाने की अनुमति नहीं दी है। कई तीर्थ पुरोहित धाम नहीं पहुंच पाए हैं। हमें पांडुकेश्वर से लौटाया गया, लेकिन भाजपा नेताओं को धाम जाने की अनुमति कैसे मिल गई। सत्तारूढ़ भाजपा ही कोरोना नियमों को तोड़ रही है।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here