हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

बदरीनाथ हाईवे से सटे मलेथा गांव में कुत्ते का शिकार करने वाले घर के अंदर घुसे गुलदार को गृहस्वामी ने बंद कर दिया। बाद में वन विभाग की रेपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) ने उसे पिंजरे में कैद कर लिया।

 

डांगचौंरा रेंज के मलेथा गांव में गुलदार सक्रिय रहता है। यहां एक साल पूर्व गुलदार एक युवती को मार भी चुका है। उसे कैद कर लिया गया था। इसके अलावा गुलदार आए दिन शिकार की तलाश में बस्ती की ओर चला आता है। सीसीटीवी में गुलदार कई बार कैद हो चुका है। रविवार रात लगभग 12 बजे गुलदार यहां रविंद्र बिष्ट के घर में चला आया।

यह भी पढ़े :  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 9 नवंबर को होगे देहरादून मे , राज्य की 19 वी वर्षगांठ के अवसर पर भव्य कार्यक्रम, जिम्मेदारी मंत्री धन सिंह रावत के कंधों पर ।

बिष्ट ने बताया कि रात के वक्त उनका कुत्ता सीढ़ियों पर रहता है। उन्होंने सीढ़ियों का दरवाजा बंद किया था लेकिन गुलदार दरवाजे को धक्का देकर कुत्ते को मारने सीढ़ियों के अंदर घुस गया। उन्होंने कुत्ते की आवाज सुनी तो कमरे से बाहर आ गए।

उन्हें लगा कि कोई चोर सामान चुराने आया है लेकिन जब सीढ़ियों के अंदर सामान गिरने की आवाज नहीं सुनाई दी तो उन्हें यकीन हो गया कि गुलदार घुस गया है। जब वह सीढ़ियों के नजदीक आए तो गुलदार को जबड़े में कुत्ता दबाए बाहर आते देखा। उन्होंने एक क्षण की देरी न करते हुए दरवाजा बंद कर दिया।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड में फिर बढ़ सकता है हफ्तेभर का कोविड कर्फ्यू, कुछ रियायत दे सकती है सरकार

उन्होंने घटनाक्रम की सूचना ग्राम प्रधान अंकित कुमार को दी। अंकित की सूचना पर रेंजर देवेंद्र पुंडीर आरआरटी के साथ मौके पर पहुंचे। लगभग 3 घंटे की मशक्कत के बाद टीम ने सुबह लगभग पौने 5 बजे गुलदार को पिंजरे में कैद कर लिया। रेंजर पुंडीर ने बताया कि गुलदार की उम्र 6 से 7 साल है। वह कुत्ते का शिकार करने घर में घुसा था। गुलदार को रेस्क्यू सेंटर चिड़ियापुर भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here