हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

 

बाजपुर 

 आपको बता दे की कोसी नदी के तेज बहाव के बीच फंसे ट्रैक्टर के पलट जाने से उस में सवार छः लोग नदी में जा गिरे। किसी तरह  चार लोग  बच कर बाहर निकल आये पर एक महिला और उस की सात  साल की  पुत्री का पता नही चल पाया है। घटना के बाद स्थानीय पुलिस, प्रशासन तथा आसपास के सैंकड़ो लोग नदी किनारे देर रात्रि तक खोजबीन करते रहे पर दोनो मांबेटी का कुछ पता नही चल पाया है। मजदूर परिवार के साथ हुये इस हादसे को लेकर परिजनो में चीत्कार मचा हुआ है।

 सीतापुर कालोनी निवासी मंगल सिंह, उस की धर्मपत्नि मुन्नी देवी तथा सात  साल की  पुत्री सिमरन कोसी पार ग्राम गुलजारपुर में खेतीहर मजदूर थे

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड में अधिकारियों का गजब कारनामा, मृतक को दर्शाया जीवित, फिर मकान कर लिया अपने नाम

। मजदूरी करने के दौरान मुन्नी देवी ने अपने पति मंगल सिंह से घर जाने की जिद की तो वह उसे लेकर कोसी नदी तक पैदल आ गया और वहां कोसी पार जाने के लिये किराये पर ले जाने वाले एक ट्रैक्टर पर बैठ गये। इसी बीच एक महिला और पुरुष सवारी भी ट्रैक्टर पर बैठ गयी। ट्रैक्टर चालक ने जैसे ही नदी के बीच में ट्रैक्टर को डाला तभी अचानक कोसी नदी में तेज बहाव आ गया और वाहन असंतुलित हो कर पलट गया। ट्रैक्टर के पलट जाने से उस पर सवार सभी लोग नदी के तेज बहाव में फंस गये। पुलिस ने बताया कि इस दौरान वाहन का मालिक और एक महिला व पुरुष किसी तरह अपनी जान बचा कर बाहर निकल आये। इसी बीच मंगल सिंह भी पानी से बाहर निकलने में सफल रहा पर मुन्नी देवी और उस की सात वर्षीय बालिका पानी से बाहर नही निकल पाये और उन का कुछ पता नही चल पाया।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड : इसी धनतेरस पर ली थी कार, मंगलवार को खाई मै गिरी , बुझ गया घर का चिराग , फरवरी मैं हुई थी शादी , दो सालों मैं अब तक सड़क हादसे मैं 1400 से अधिक लोगो की मौत

 

कोसी के तेज बहाव में पलटा ट्रैक्टर, छह नदी में डूबे, चार तैर कर बाहर निकले, मां बेटी की तलाश जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here