ख़बर उत्तराखंड के देहरादून से : होटल में तीन दिन रुकी महिला में मिले कोरोना के लक्षण, आगे की बात फिर ख़बर के अंदर


देहरादून के जाखन के होटल में ठहरा था दंपती

पुलिस की मौजूदगी में स्वास्थ्य विभाग ने होटल को किया सेनेटाइज

देहरादून के एक होटल में ठहरी महिला में कोरोना के लक्षण पाए जाने स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। महिला और उनके पति अब फरीदाबाद पहुंच चुके हैं। महिला में कोरोना के लक्षण मिलने की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पूरे होटल को सेनीटाइज कराया। साथ ही होटल के दो कर्मचारियों को 14 दिन के लिए होम कोरेंटाइन कर दिया गया है।

पुलिस सूचना के मुताबिक, जाखन स्थित होटल में यह दंपति नौ से 11 मार्च तक ठहरा था। 11 मार्च को यह दंपती वापस फरीदाबाद चला गया। इस बीच पता लगा कि महिला में कोरना के लक्षण पाए गए हैं। उसका सैंपल भी जांच के लिए भेजा गया है। इसकी सूचना फरीदाबाद के प्रशासन द्वारा देहरादून जिला प्रशासन को दी गई ।

इसके बाद स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम ने शुक्रवार सुबह होटल पहुंचकर सबसे पहले विजिटर रजिस्टर खंगाला। उसके बाद उस कमरे को बंद कर दिया गया जिसमें दंपती ठहरा था। टीम ने होटल में उस अवधि और उसके बाद ठहरे लोगों के बारे में भी जानकारी जुटाई।

साथ ही दंपती को भोजन आदि सेवाएं देने वाले दो कर्मचारियों को घर भेजकर वहीं रहने के लिए कहा। साथ ही होटल संचालकों को निर्देश दिए गए हैं किलगातार होटल में साफ-सफाई के कराते रहें। हालांकि इस संबंध में कोई भी अधिकारी आधिकारिक तौर पर बोलने को तैयार नहीं है।

आईआरएस एक्टिवेट, प्रशासन अलर्ट

देहरादून के जिलाधिकारी ने जिले के आईआरएस (इंटिग्रेटिड रेस्पांस सिस्टम) को एक्टिवेट करने के निर्देश दिए हैं ताकि समय रहते किसी भी आपात स्थिति से निपटा जा सके। इसके अलावा उन्होंने लोगों से सावधानी बरतने और मंदिरों व मस्जिदों में भीड़ कम करने की अपील की है।

डीएम डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि इस वायरस से बचाव सिर्फ जागरुकता से ही हो सकता है। प्रशासन अपने स्तर से सारी तैयारियां कर रहा है। सुभारती मेडिकल कॉलेज को आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा दस के तहत अधिग्रहित कर इसे कोरोना केयर यूनिट बनाया गया है। इसके अलावा क्षेत्र के एक होटल को कोरेंटाइन यूनिट के तौर पर अधिग्रहित कर लिया गया है।

उन्होंने बताया कि आईआरएस को पूरी तरह से शुरू कर दिया गया है। इस पूरी आपदा में सेवाएं डॉक्टर देंगे लेकिन सुरक्षा का दायित्व पुलिस विभाग पर रहेगा। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन और एयरपोर्ट पर सोडियम क्लोराइड के छिड़काव के आदेश दिए गए हैं।

 

इसके अलावा चौक चौराहों और मलिन बस्तियों में भी इस घोल के लगातार छिड़काव को कहा गया है ताकि किसी भी प्रकार का वायरस न पनप सके। मंदिर मस्जिद धार्मिक मामला है। लिहाजा, वहां भी लोगों को कम से कम संख्या में जाने की सलाह दी जा रही है, ताकि अनावश्यक भीड़ से बचा जा सके।

देहरादून से दो और ट्रेनों का संचालन बंद

कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए देहरादून से दो और ट्रेनों का संचालन अगले आदेशों तक रद्द कर दिया गया है। इनमें देहरादून-नई दिल्ली के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस और दून-उज्जैन के बीच चलने वाली उज्जैनी एक्सप्रेस शामिल है।

 

उज्जैनी एक्सप्रेस पहले ही 31 मार्च तक अन्य कारणों से कैंसिल थी। जबकि शताब्दी एक्सप्रेस का संचालन कल शनिवार से रद्द किया जाएगा। इससे पहले रेलवे देहरादून-कोटा के बीच चलने वाली नंदा देवी एक्सप्रेस और देहरादून से काठगोदाम के बीच चलने वाली दून नैनी जनशताब्दी एक्सप्रेस को पहले ही रद्द किया जा चुका है। दून-नैनी जनशताब्दी एक्सप्रेस 21 मार्च से अगले आदेश तक नहीं चलेगी। यह जानकारी स्टेशन निदेशक गणेश चंद ठाकुर ने दी।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here