चुनाव आयोग हर चुनाव में नए-नए प्रयोग करता रहता है। अबकी बार जहां लोकसभा चुनाव की तरह ईवीएम पर प्रत्याशी की फोटो रहेगी, वहीं कोविड के चलते भी कई बदलाव देखने को मिलेंगे। कर्मचारी जहां पीपीई किट पहनेंगे, वहीं वोटर के लिए मास्क पहनना जरूरी होगा। चुनाव को पारदर्शी बनाने के साथ ही निगरानी व्यवस्था को सुगम बनाने के लिए आयोग इस बार बूथों की वेब कास्टिंग करने जा रहा है।

ग्लव्स पहनकर दबेगा ईवीएम का बटन
कोरोना के चलते इस बार मतदाताओं को मतदान केंद्र में मास्क पहनकर ही प्रवेश मिलेगा। मतदान केंद्रों पर हाथ सेनेटाइज कराने की सुविधा रहेगी। थर्मल स्क्रीनिंग कराने भी तैयारी है। कर्मचारी ईवीएम के साथ यह सामग्री मतदान केंद्रों पर लेकर पहुंचेंगे। मतदान के दौरान कर्मचारी पीपीई किट पहने नजर आएंगे। जिस बूथ पर जितने वोटर हैं, उतने ही ग्लव्स टीम के पास होंगे। मतदान करने से पहले ग्लव्स दिए जाएंगे।

यह भी पढ़े :  बल भाई जी गढ़वाली विरोधी हो गई कांग्रेस अब !

मतदाता पर्ची पर लिखा होगा पूरा विवरण
मतदाता पर्ची का साइज इस बार ए-फोर साइज पेपर का आधा रहेगा। इस पर मतदाता का पूरा विवरण दर्ज रहेगा। पर्ची पर मतदान केंद्र और बूथ डिटेल तो होगी ही, इसके साथ ही चुनाव आयोग का हेल्पलाइन नंबर, मतदान की तिथि और वोटिंग का समय भी दर्ज होगा।

 

दून में 50 % बूथों की वेब कास्टिंग
देहरादून जिले की बात करें तो पहली बार 50 फीसदी बूथों की वेब कास्टिंग होगी। ऐसे बूथों की संख्या 943 है। पिछले चुनावों में ट्रायल के तौर पर चुनिंदा बूथों पर ही वेब कास्टिंग हुई थी। वेब कास्टिंग वाले बूथों पर एक-एक सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे। निर्वाचन अफसर एक जगह बैठकर इन बूथों पर चल रही प्रक्रिया को लाइव देख सकेंगे। इसका ट्रायल भी कर लिया गया। वहीं 18 सखी बूथ होंगे। इनमें केवल महिला स्टाफ तैनात होगा। देहरादून में दो पीडब्ल्यूडी बूथ दिव्यांगजनों के लिए बनाए जा रहे हैं।

यह भी पढ़े :  राज्य सरकार और उत्तराखंड पर्यटन विकास बोर्ड उत्तराखंड में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए निरंतर कार्यरत - मुख्यमंत्री

चुनाव में ईवीएम पर प्रत्याशियों की फोटो
विस चुनाव में पहली बार ईवीएम मशीन पर प्रत्याशी की फोटो भी लगेगी। इससे पहले लोकसभा चुनाव में यह सुविधा दी गई थी। ईवीएम में पार्टी या प्रत्याशी का चुनाव चिह्न होने के साथ प्रत्याशी का फोटो भी रहेगा।

दिव्यांग वोटरों की मदद के लिए वालंटियर
दिव्यांग मतदाता की मदद के लिए एक-एक वॉलिंटियर भी तैनात रहेंगे। मतदान केंद्रों पर मदद के लिए एनसीसीसी, एनएसएस, महिला मंगल दल, सिविल डिफेंस से वॉलिंटियर भी तैनात किए गए हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here