विधानसभा चुनाव 2022 के लिए मतदान से पहले की रात से सोमवार दोपहर मतदान तेज होने तक प्रदेशभर में सियासी माहौल में अभूतपूर्व उबाल देखने को मिला। तमाम जगह प्रत्याशियों पर मतदाताओं को प्रलोभन देने या दूसरे प्रत्याशी के खिलाफ दुष्प्रचार करने के आरोप लगते रहे। इस कारण 24 घंटे में प्रदेशभर में 203 मुकदमें दर्ज किए गए।

विधानसभा चुनाव में इस बार प्रचार की अवधि समाप्त होने के बाद अप्रत्याशित गरमी नजर आई। मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि रविवार शाम से सोमवार दोपहर बाद तक प्रदेश में आचार संहिता उल्लंघन के कुल 203 मुकदमें दर्ज किए गए। इसमें मतदाताओं को प्रलोभन देने, अवैध रूप से चुनाव सामग्री का इस्तेमाल करने, वाहनों का अवैध रूप से चुनावी कार्यों के इस्तेमाल, कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन के मुकदमें शामिल हैं।

यह भी पढ़े :  श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में नेशनल स्पोर्टस चैम्पियनशिप का शानदार उद्धाटन - देश के सोलह राज्यों के 600 से अधिक खिलाड़ियों ने लिया हिस्सा।

कोविड प्रोटोकॉल के उल्लंघन में इस दौरान सर्वाधिक 92 मुकदमें दर्ज किए गए। सौजन्या ने बताया कि मतदान से ठीक पहले प्राप्त सभी शिकायतों को आरओ को भेजा गया, जिसमें प्रारंभिक जांच और तथ्यों के आधार पर मुकदमें दर्ज किए गए हैं। उन्होंने बताया कि निर्वाचन के दौरान इस बार पूरी निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान कुल 18.80 करोड़ रुपए का कैश और सामान बरामद हुआ। जो पिछली बार के 6.85 करोड़ रुपए से करीब तीन गुना ज्यादा है।

कहां कितने मुकदमें
चमोली -05, देहरादून- 51, हरिद्वार 32, पौड़ी – 09, पिथौरागढ़ – 11, यूएसनगर- 47, चम्पावत – 02, रुद्रप्रयाग – 04, उत्तरकाशी – 09, नैनीताल – 24, अल्मोड़ा – 03, बागेश्वर – 01, टिहरी – 04

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here