पूर्व निर्धारित कार्यक्रमानुसार सचिवालय सेवा संवर्ग की विगत समय से लम्बित महत्वपूर्ण मांगों, जिस पर सचिवालय प्रशासन विभाग के स्तर पर दिनॉंक 14.10.2021 को स्पष्ट सहमति व्यक्त करते हुए सचिवालय संघ के साथ लिखित समझौता किया गया है, का अपेक्षित क्रियान्वयन अब तक पर्याप्त समय दिये जाने के उपरान्त भी सक्षम अधिकारियों/विभागों यथा-वित्त, कार्मिक, सचिवालय प्रशासन विभाग द्वारा न किये जाने तथा गोल्डन कार्ड जैसे अहम मुद्दे पर दिनॉंक 29.10.2021 को कैबिनेट में लिये गये निर्णय का अनुपालन अब तक न होने पर संघ के आहवान पर आज दिनॉंक 23.11.2021 को प्रातः 10.00 बजें ए0टी0एम0 चौक पर सचिवालय सेवा संवर्ग के सभी अधिकारी/कर्मचारी एकत्र हुए। सर्वसम्मति से सचिवालय संघ की लम्बित मांगों पर अपेक्षित शासनादेश जारी न होने पर आक्रोश व्यक्त किया गया तथा राज्य की सर्वोच्च कार्यालय इकाई के गरिमामयी सचिवालय संघ की महत्ता को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया गया।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंडः शादी के ड़ेढ़ माह बाद ही दहेज के लिए युवती को उतारा मौत के घाट, सास और पति गिरफ्तार

संघ की मांगों पर हीलाहवाली करने एवं पत्रावलियों को अनावश्यक घुमाने वाले ऐसे अधिकारियों को सचिवालय से बाहर का रास्ता दिखाने का संकल्प लिया गया। सचिवालय संघ के सभी संवर्गीय संघों, समस्त सदस्यगणों की सहभागिता व सहमति से शासनादेश जारी होने तक निम्नवत कार्यक्रम निर्धारित किये गये हैंः-

1.दिनॉंक 24.11.2021-26.11.2021 (03 दिन) प्रातः 10.00-12.00 बजे तक
02 घण्टे का कार्यबहिष्कार

2.दिनॉंक 29.11.2021-01.12.2021 (03 दिन) प्रातः 10.00-01.00 बजे तक 03 घण्टे का कार्यबहिष्कार

3.दिनॉंक 02.12.2021- 03.12.2021 (02 दिन) प्रातः 10.00-02.00 बजे तक 04 घण्टे का कार्यबहिष्कार

4.दिनॉंक 06.12.2021 (सोमवार) सचिवालय संघ की लम्बित मांगों पर तब तक हुई प्रगति की समीक्षा एवं मूल्यांकन।

5.दिनॉंक 07.12.2021 (मंगलवार) संघ की लम्बित मांगों का अपेक्षित क्रियान्वयन न होने तथा शासनादेश जारी न होने की दशा मेंअनिश्चितकालीन हडताल प्रारम्भ।

सचिवालय संघ के अध्यक्ष दीपक जोशी व महासचिव विमल जोशी द्वारा अवगत कराया है कि सर्वसम्मति से लिये गये आज के निर्णयानुसार निर्धारित आन्दोलन कार्यक्रम का शत्-प्रतिशत अनुपालन सचिवालय संघ के सभी सदस्यगणों द्वारा किया जायेगा तथा कार्यबहिष्कार की नियत अवधि में कोई भी कार्यालय कक्ष/अनुभाग नहीं खोला जायेगा। यह भी चेतावनी दी गयी है कि संघ के निर्णय के विपरीत जाने वाले संघ केे किसी भी सदस्यगण के विरूद्ध सचिवालय संघ के संविधान के अनुसार कार्यवाही अमल में लायी जायेगी। इसकी समीक्षा निगरानी सचल दल द्वारा समय-समय पर की जायेगी।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड : हल्द्वानी में इंस्पेक्टर ललिता पांडे को इसलिए कर दिया S.S.P ने तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर

सचिवालय संघ की ओर से सभी सदस्यो से अनुरोध/अपेक्षा की गयी है कि संघ द्वारा लिये गये निर्णय का अनुपालन सुनिश्चित हो, किसी भी स्थिति में संघ के निर्णय के विरूद्ध कोई भी कार्मिक/सदस्य कदापि न जाये।

दीपक जोशी, अध्यक्ष सचिवालय संघ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here