कपकोट तहसील के गोग़ना गांव में बर्थी गधेरे में नहाने गए चार युवकों में चचेरे भाई समेत 4 की मौत हो गई है। इसमें से तीन लड़के हल्द्वानी तथा बिंदुखत्ता से अपने गांव आए थे। मृतक भाइयों में एक के पिता एसओजी हल्द्वानी में तैनात हैं तो दूसरे के राजस्थान कोटा में फौज में तैनात हैं। गांव के चार बच्चे डूबने से गांव में कोहराम मच गया है।

कपकोट तहसील के गोगिना गांव में सोमवार की सुबह हृदय विदारक घटना हुई।
घरों से नाश्ता करने के बाद चार किशोर नहाने के लिए स्थानीय बर्थी गधेरे की तरफ चले गए। जिसमें तीन बच्चे हल्द्वानी तथा बिंदुखत्ता में पढ़ते हैं।
वह अवकाश पर इस बीच घर आए थे। जबकि एक अन्य स्थानीय बच्चे भी उनके साथ नहाने चले गए। ओर गधेरे में बने तालाब में चारों डूब गए।
जिससे गांव में अफरातफरी मच गई। ग्रामीणों ने तीन किशोरों को पानी से बाहर निकाल लिया है। एक किशोर को प्रशासन की टीम खोज रही है। इधर, जिला आपदा अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि 16 वर्षीय अभिषेक सिंह पुत्र त्रिलोक सिंह रौतेला,17 वर्षीय अजय सिंह पुत्र नारायण सिंह रौतेला चचेरे भाई हैं।

यह भी पढ़े :  रामदेव की दिव्य कोरोनिल पर बोला उत्तराखंड आयुर्वेद विभाग- हमसे तो कफ और बुखार की दवा का लाइसेंस मांगा था बल !

इसमें त्रिलोक सिंह एसओजी हल्द्वानी में तैनात हैं,
जबकि नारायण सिंह रौतेला कोटा राजस्थान में फौज में तैनात हैं।
13 वर्षीय सुरेश सिंह उर्फ पंकज पुत्र दुर्गा सिंह का शव निकाल लिया गया है, जबकि16 वर्षीय विक्रम सिंह पुत्र नारायण सिंह के निधन की भी दुःखद जानकारी आ रहीं है
इस दुःखद हादसे के बाद मुख्यमंत्री धामी ने जनपद बागेश्वर के कपकोट में गोगना के निकट परथी गदेरे में 4 बच्चों के डूबने का दुःखद समाचार पर गहरा दुःख जताया ओर ईश्वर से मृतक मासूमों की आत्मा को शांति और उनके परिजनों को ये दु:ख सहने की शक्ति प्रदान करने की कामना की

यह भी पढ़े :  लोकप्रिय मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी अपने उत्तराखंड में बिना यूनिफॉर्म और किताबों के पढ़ रहे है लगभग 2 लाख छात्र, विभागीय जांच में खुल गई पोल

ॐ शांति: शांति: शांति:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here