उत्तराखंड चार धाम /
*श्री बदरीनाथ-केदारनाथ यात्रा 2022कपाट खुलने हेतु देव डोलियों का धामों के लिए प्रस्थान कार्यक्रम*

(1)
*श्री केदारनाथ धाम*

• कपाट खुलने की तिथि
*6 मई शुक्रवार समय प्रात: 6.25*

 

भगवान केदारनाथ जी की पंचमुखी डोली के प्रस्थान का कार्यक्रम

•भैरव पूजा शीतकालीन गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में शायंकाल 1 मई रविवार
• भगवान केदारनाथ जी की पंचमुखी डोली धाम प्रस्थान‌ शीतकालीन गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ से
2 मई सोमवार प्रात: 9 बजे।

• 2 मई प्रथम पड़ाव श्री विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी प्रवास
• 3 मई मंगलवार गुप्तकाशी से 8 बजे प्रात: फाटा प्रस्थान एवं प्रवास।

• 4 मई बुधवार फाटा से प्रात: 8 बजे श्री गौरामाई मंदिर गौरीकुंड प्रस्थान एवं प्रवास

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड: हो गया फैसला गणेश गोदियाल उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ओर प्रीतम सिंह नेता प्रतिपक्ष

• 5 मई बृहस्पतिवार गौरीकुंड से प्रात: 6 बजे भगवान की पंचमुखी डोली श्री केदारनाथ धाम प्रस्थान।

• 6 मई शुक्रवार प्रात: 6 बजकर 25 मिनट पर श्री केदारनाथ धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए दर्शनार्थ खुलेंगे।

(2) *श्री बदरीनाथ धाम*


कपाट खुलने की तिथ
*8 मई रविवार समय : 6 बजकर 15 मिनट*

• श्री बदरीविशाल
देवडोली प्रस्थान कार्यक्रम

• 6 मई शुक्रवार प्रात:9 बजे श्री नृसिंह मंदिर जोशीमठ से आदि गुरु शंकराचार्य जी की गद्दी सहित तेल कलश गाडू घड़ा के साथ श्री बदरीनाथ धाम के रावल जी, मंदिर समिति के आचार्य एवं डिमरी पंचायत के प्रतिनिधियों का योगध्यान बदरी प्रस्थान एवं प्रवास।

• 7 मई शनिवार प्रात: योग बदरी पांडुकेश्वर से आदि गुरु शंकराचार्य जी की गद्दी, रावल जी सहित देवताओं के खजांची श्री कुबेर जी एवं भगवान के सखा उद्धव जी, तेल कलश गाडू घड़ा पांडुकेश्वर से प्रात: 9 बजे श्री बदरीनाथ धाम को प्रस्थान ।

यह भी पढ़े :  शहीद जवानों के परिजनो को यहा मिलता है सम्मान

• 8 मई प्रात: 6 बजकर 15 मिनट पर शीतकाल हेतु श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे।

(3) *श्री गंगोत्री धाम के कपाट खुलने की तिथि*

*श्री गंगोत्री धाम 3 मई मंगलवार दोपहर 11.15 बजे पूर्वाह्न*

(4) *श्री यमुनोत्री धाम कपाट खुलने की तिथि 3 मई मंगलवार अपराह्न दिन12.15 बजे*

• *पवित्र गुरूद्वारा श्री हेमकुंड साहिब जी एवं लोकपाल तीर्थ के कपाट रविवार 22 मई को खुलेंगे*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here