उत्तराखंड राज्य में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ने लगे हैं। जहां कुछ दिन पहले प्रदेश में एक मरीज में ओमिक्रोन की पुष्टि हुई थी। तो वही, सोमवार को 3 और मरीजों में ओमिक्रोन संक्रमण की पुष्टि हुई है। जिसके चलते हैं स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार उत्तराखण्ड में ओमिक्रोन पॉजिटिव 3 नये मरीज हरिद्वार एवं देहरादून में पाये गये हैं, इस प्रकार राज्य में ओमिक्रोन पॉजिटिव मरीजों की कुल संख्या 4 हो गयी है।
नये ओमिक्रोन पॉजिटिव मरीजों के बारे में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य महानिदेशक डा० तृप्ति बहुगुणा ने बताया कि एक 28 वर्षीय व्यक्ति यमन से भारत आया और जिसका सैम्पल मेला चिकित्सालय, हरिद्वार द्वारा कोविड-19 जांच उपरान्त पॉजिटिव पाया गया है। पॉज़िटिव मरीज को आईसोलेट कर आवश्कीय कदम उठाए गए हैं। इसी क्रम में राजपुर रोड, देहरादून निवासी दो मरीज क्रमशः 74 वर्षीय पुरूष एवं 65 वर्षीय महिला में ओमिक्रोन वेरियन्ट के पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। यह दोनो मरीज दुबई से लौटे परिवार के सम्पर्क में आये थे।

यह भी पढ़े :  जांबाज पहाड़ पुत्र जनरल को नमन : लैंडिंग से सात मिनट पहले ही टूटा हेलिकॉप्टर से संपर्क और फिर खबर आई... सब खत्म

महानिदेशक डा० बहुगुणा ने बताया कि गत 11 दिसम्बर को लंदन से देहरादून आयी पहली अंतर्राष्ट्रीय 34 वर्षीय महिला यात्री की कोविड रिपोर्ट ओमिक्रोन वेरियन्ट के लिए निगेटिव पायी गयी है। राज्य में ओमिक्रोन वेरियन्ट के मरीजों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए स्वास्थ्य सचिव डा० पंकज कुमार पाण्डेय ने आज समस्त जनपदों के सी०एम०ओ० को ओमिक्रोन वेरियन्ट से बचाव एवं नियंत्रण को लेकर विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। स्वास्थ्य सचिव डा० पाण्डेय द्वारा जारी निर्देशों में कहा गया है कि सभी चिकित्सा ईकाईयों पर इनफ्लूएन्जा तथा गम्भीर श्वसन संक्रमण ग्रसित मरीजों की सघन निगरानी की जाए और इस प्रकार के समस्त मरीजों का कोविड-19 टैस्ट भी कराया जाए।
पूर्व से ही अन्य रोगों द्वारा पीडित संवेदनशील मरीजों को भी कोविड-19 जांच की परिधि में रखा जाए एवं पॉजिटिव पाये जाने पर उन्हें होम आईसोलेशन अथवा चिकित्सा ईकाईयों पर यथा उपचार की स्थिति अनुसार रखा जाए। स्वास्थ्य सचिव के निर्देशों में कहा गया कि होम आईसोलेशन मरीजों पर कंट्रोल रूम के माध्यम से निगरानी रखी जाए तथा उनके घर पर जाकर भी देखा जाए, सभी कोविड पॉजिटिव व्यक्तियों के सम्पर्क में आये लोगों की सघन ट्रेसिंग की जाए तथा औसतन 20 सम्पर्क में आये हुए व्यक्तियों की आई०सी०एम०आर गाईड लाईन के अनुसार कोविड जांच की जाए।
डा० पंकज कुमार पाण्डेय ने निर्देश दिए हैं कि कुल कोविड जांच के अनुपात में आर०टी०पी०सी०आर टैस्ट अधिक कराए जाएं सभी पोजिटिव सैम्पल बिना किसी विलम्ब के जिनोम सिकवेसिंग हेतु दून मेडिकल कॉलेज की लैब को उपलब्ध कराए जाएं। स्वास्थ्य सचिव ने यह भी कहा कि आमजन मानस द्वारा मास्क लगाए जाना सुनिश्चित कराया जाए तथा कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन किए जाने के बारे में समुदाय की सहभागिता को लेकर व्यापक जागरूकता उत्पन्न की जाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here