उत्तराखण्ड का जानलेवा ट्रैक! अब तक मिले 5 शव ओर जारी है लापता लोगो को ढूंढने के लिए सर्च ऑपरेशन

आपको बता दे कि पश्चिम बंगाल व अन्य स्थानों के आठ पर्यटकों का दल मोरी सांकरी की एक ट्रेकिंग एजेंसी के माध्यम से 11 अक्तूबर को हर्षिल से रवाना हुआ था। इस दल में तीन कुकिंग स्टाफ और छह पोर्टर भी शामिल थे।
उत्तरकाशी के हर्षिल से लम्खागा पास होते हुए छितकुल हिमाचल की ट्रेकिंग के लिए गए 8 पर्यटकों समेत 11 पर्यटक लापता हो गए थे।
इनकी खोजबीन में गई टीम को गुरुवार को मौके पर पांच लोगों के शव दिख गए हैं।
वहीं अन्य लापता लोगों की तलाश जारी है।राहत-बचाव टीम को पांच लोगों के शव दिखे

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड में आज आये 269 कोरोना पाजिटिव, आज 7 लोगो की मौत

लापता 11 पर्यटकों को ढूढने के लिए सेना और एसडीआरएफ मौके पर पहुंची।
एक ट्रेकर को लेकर एसडीआरएफ आपदा प्रभावित क्षेत्र की ओर रवाना हुई। वहीं राहत-बचाव टीम को पांच लोगों के शव दिखे हैं।
शवों को निकाला जा रहा है। वहीं अन्य लापता लोगों की खोज जारी11 अक्तूबर को हर्षिल से रवाना हुआ था दल

जानकारी के अनुसार पश्चिम बंगाल व अन्य स्थानों के आठ पर्यटकों का दल मोरी सांकरी की एक ट्रेकिंग एजेंसी के माध्यम से 11 अक्तूबर को हर्षिल से रवाना हुआ था।
इस दल में तीन कुकिंग स्टाफ
और छह पोर्टर भी शामिल थे।
पोर्टर पर्यटकों का सामान छोड़कर 18 अक्तूबर को छितकुल पहुंचे।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड से बड़ी ख़बर : 12 साल की  बहन का विवाह कराने पर भाई ने कराया परिजनों पर केस, पिता सहित चार गिरफ्तार

 

ये हैं लापता
लापता लोगों की पहचान दिल्ली की अनीता रावत (38),
पश्चिम बंगाल के मिथुन दारी (31)
तन्मय तिवारी (30)
विकास मकल (33)
सौरभ घोष (34)
सावियन दास (28)
रिचर्ड मंडल (30)
सुकेन मांझी (43)
के रूप में हुई है।

खाना पकाने वाले कर्मचारियों की पहचान देवेंद्र (37),
ज्ञानचंद्र (33)
और उपेंद्र (32)
के रूप में हुई है।
ये तीनों उत्तरकाशी के पुरोला के रहने वाले  है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here