बागेश्वर : गागरीगोल, मन्यूड़ा निवासी एक बेटी ने जेईई एडवांस में टॉप फाइव आइआइटी संस्थान में स्थान बनाया है। उनकी कामयाबी पर क्षेत्र में खुशी की लहर दौड़ गई है। स्वजनों को बधाइयां देने वालों का लगातार फोन आ रहे हैं।

कत्यूर घाटी क्षेत्र के गागरीगोल निवासी यशवंत सिंह रावत की सुपुत्री दीक्षा रावत का जेईई एडवांस में टॉप फाइव आइआइटी संस्था में चयन हुआ है। शुक्रवार को परीक्षाफल घोषित होने पर उनके घर पर खुशी की लहर दौड़ गई। विजयादशमी पर्व पर उनके परिवार को सौगात भी मिली है। दीक्षा ने सेंट एडम्स गरुड़ से इंटर की परीक्षा 96 प्रतिशत अंकों के साथ  उत्तीर्ण की। उसके बाद उन्हें जेईई मेंस में सफलता प्राप्त हुई है। उनके पिता यशवंत रावत सीमा सुरक्षा बल में कार्यरत हैं। जबकि माता मुन्नी रावत सफल गृहणी। दीक्षा ने बताया कि वह मोबाइल का इस्तेमाल जरूरी काम के लिए करतीं हैं। किताबों को पढ़ना उसका शौक रहा है। उन्होंने इस उपलब्धि का श्रेय माता-पिता, गुरुजनों और अपने भाई को दिया

यह भी पढ़े :  लो जी अब कांग्रेस के लिए "खंडूड़ी " हो गए जरूरी ! ओर एक खंडूड़ी दूसरे खंडूड़ी के लिए नही मांगेगा वोट !

मालूम हो कि इस अप्रतिमा होनहार बालिका के अग्रज आशुतोष ने वर्ष 2015-16 में आइआइटी कानपुर में प्रवेश पाया और वहीं से मैरिट से बीटेक, ऐमटैक डिग्री प्राप्त की। वर्तमान में कोलंबिया विवि-न्यूयार्क (यूएसए) से पीएचडी कर रहे हैं। इस दोहरी उपलब्धि पर रावत परिवार में खुशी का माहौल है।

बागेश्वर की दीक्षा रावत ने टॉप फाइव आइआइटी के लिए चयनित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here