हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

एसएसबी की 11वीं बटालियन धारचूला में तैनात हैड कांस्टेबल विजयपाल राणा की हृदय गति रुकने से मौत हुई है। एसएसबी के जवानों ने धारचूला से सैन्य सम्मान के साथ उनके पार्थिव शरीर को उत्तरकाशी पहुंचाया।

लोगों ने उनके दर्शन कर अंतिम विदाई दी
रविवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे उत्तरकाशी स्थित उनके आवास पहुंचाया गया। परिजनों के अंतिम दर्शन के बाद उनके पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए उत्तरकाशी के केदारघाट ले जाया गया और उनका अंतिम संस्कार किया गया। विजयपाल राणा के जयकारों के साथ लोगों ने उनके दर्शन कर अंतिम विदाई दी।

 

अपने पीछे एक बेटा, बेटी व पत्नी छोड़ गए
हैड कांस्टेबल विजयपाल राणा अपने पीछे एक बेटा, बेटी व पत्नी छोड़ कर गए हैं। उनका पैतृक गांव पंचाण गांव धनारी है। उनका परिवार वर्तमान में वार्ड 11 ज्ञानसू में रहता है।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड : बीएड प्रशिक्षितों ने पदवृद्धि के लिए शिक्षा निदेशालय में डाला डेरा ( विभागीय कार्यशैली पर बडा प्रश्नचिन्ह!! )

नौ सितंबर को सीने में दर्द की शिकायत हुई
एएसआई स्वरूप सिंह ने बताया कि हैड कांस्टेबल विजयपाल राणा धारचूला की दुबाटा पोस्ट में तैनात थे नौ सितंबर को सीने में दर्द की शिकायत पर नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।चिकित्सकों ने मौत का कारण हृदय गति का रुकना बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here