हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की कैबिनेट में हुए महत्वपूर्ण फैसले उपनल कर्मियों को भी मिली बड़ी सौगात जानिए क्या कुछ हुए आज महत्वपूर्ण फैसले

 

धामी सरकार युवाओ के साथ कैबिनेट में लिया गया बड़ा फैसला

उपनल कर्मियों के वेतन वृद्धि को लेकर हुवा बड़ा फैसला
ले लिया गया
10 साल की सेवाकाल से अधिक कार्मिकों की वेतन में 3000 की वृद्धि 10 साल की सेवा काल से कम कार्मिकों की वेतन में 2000 की वृद्धि होगी

 

देहरादून: उत्तराखंड से बड़ी खबर सामने आ रही है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक संपन्न हो गई है। जिसमें उपनल कर्मचारियों के मानदेय वृद्धि को लेकर बड़ा फैसला लिया गया है। सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने जानकारी देते हुए बताया है कि उपनल कर्मचारियों के मानदेय वृद्धि के प्रस्ताव को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। जिसके तहत 10 साल से अधिक सेवा देने वाले उपनल कर्मचारियों का मानदेय 3000 और 10 साल से नीचे सेवा करने वाले उपनल कर्मचारियों का 2000 मानदेय बढ़ाया जाएगा।

सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने इसके लिए पूरी कैबिनेट का आभार व्यक्त किया है। उपनल कर्मचारी लंबे समय से इसकी मांग कर रहे थे। कई दिनों से कर्मचारी लगातार इसको लेकर आंदोलन भी कर रहे थे। आपको बता दें पिछले कैबिनेट बैठक में भी इस मुद्दे को लाया जाना था, लेकिन वित्त विभाग द्वारा अड़ंगा लगाए जाने के चलते यह मामला कैबिनेट में पेश नहीं हो पाया। मंत्री हरक सिंह रावत और मंत्री गणेश जोशी ने इस मुद्दे पर आपत्ति जताई थी जिसके बाद आज इस मसले पर फैसला हो गया है।

यह भी पढ़े :  वन्दना कटारिया महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग की ब्रांड एम्बेसेडर,

मंगलवार को हुई धामी कैबिनेट की बैठक में कुल 29 प्रस्ताव आए थे। कैबिनेट बैठक में इन अहम प्रस्तावों पर मुहर लगा दी है।

आशा कार्यकर्ताओं को हर महीने 6500 रुपये दिए जाएंगे। इसमें पूर्व में जो राशि दी जाती थी, उसमें 1000 मानदेय और 500 रुपए प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेताओं को भाड़े का पैसा भी दिया जाएगा।
विधायक निधि से कटने वाली प्रशासनिक मद में 2 फीसदी धनराशि को घटाकर किया गया 1 फीसदी किया गया है।

उपनल कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी का फैसला। 10 साल से कम समय से काम कर रहे उपनल कर्मचारियों के वेतन में दो हजार रु की बढ़ोतरी साथ ही 10 साल से अधिक समय से काम कर रहे उपनल कर्मचारियों के वेतन से तीन हजार रु की बढ़ोतरी की गई है। साथ ही यह भी निर्णय लिया गया कि हर साल उपनल कर्मचारियों के वेतन में सुनिश्चित वृद्धि होगी।

ग्राम प्रधानों का मानदेय 1500 से बढ़ाकर 3500 किये जाने के मामले पर कैबिनेट ने मुहर लगा दी है।

राजकीय स्कूलों, महाविद्यालय के 10वीं और 12वीं और उच्च शिक्षा की छात्राओं को तीन लाख टैबलेट वितरित किए जाने पर सहमति।

उच्च न्यायालय के आदेश पर न्यायालय में कुछ पदों के सृजित करने के प्रस्ताव पर मुहर लगी।

देहरादून
सीएम पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक
कैबिनेट बैठक में उपनल कर्मचारियों के वेतन वृद्धि प्रस्ताव सहित अन्य अहम प्रस्तावों पर लगी मुहर
कैबिनेट की बैठक में कुल 29 प्रस्तावों पर लगी मुहर
कैबिनेट की बैठक में इन अहम प्रस्तावों पर लगी मुहर👇
–आशा कार्यकत्रियों को हर महीने 6500 रुपये दिए जाएंगे. पूर्व में जो राशि दी जाती थी, उसमें 1000 रुपये मानदेय और 500 रुपये प्रोत्साहन राशि के रूप में बढ़ाकर दिए जाएंगे।
–सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेताओं को भाड़े का पैसा भी दिया जाएगा, वित्त विभाग 14 करोड़ रुपये खाद्य विभाग को देगा और जल्द भुगतान कर दिया जाएगा।
–सोमेश्वर अस्पताल के विस्तारीकरण संबंधी प्रस्ताव पर कैबिनेट ने दी सहमति, अस्पताल में बेड की संख्या 30 से बढ़ाकर 100 बेड की जाएगी।
–विधायक निधि से कटने वाली प्रशासनिक मद में 2 फीसदी धनराशि को घटाकर किया गया 1 फीसदी।
–उपनल कर्मचारियों के वेतन में की गई बढ़ोतरी, 10 साल से कम समय से काम कर रहे उपनल कर्मचारियों के वेतन में 2000 रुपये की बढ़ोतरी और 10 साल से अधिक समय से काम कर रहे उपनल कर्मचारियों के वेतन में 3000 रुपये की बढ़ोतरी की गई है, इसके साथ ही यह निर्णय भी लिया गया कि हर साल उपनल कर्मचारियों के वेतन में थोड़ी वृद्धि की जाएगी।
–ग्राम प्रधानों का मानदेय 1500 रुपये से बढ़ाकर 3500 रुपये किए जाने संबंधी प्रस्ताव पर कैबिनेट ने लगाई मुहर।
–राजकीय स्कूलों में 10वीं,12वीं और महाविद्यालयों में उच्च शिक्षा की छात्राओं को तीन लाख टैबलेट वितरित किए जाने संबंधी प्रस्ताव पर कैबिनेट ने लगाई मुहर।
–उच्च न्यायालय के आदेश पर न्यायालय में कुछ पदों को सृजित करने संबंधी प्रस्ताव पर कैबिनेट ने लगाई मुहर।

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र की सौग़ात पहाड़ को लाभ ही लाभ

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here