*डॉ. नेहा शर्मा बनी फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर की नई अध्यक्ष।*

फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर को मिला पांचवा अध्यक्ष ।
अनुराधा मल्ला वरिष्ठ उपाध्यक्ष और चारु चौहान फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर की उपाध्यक्ष बनीं ।

देहरादून 01 अप्रैल 2022 : नई दिल्ली में आयोजित फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर के 5वें चेंज ऑफ गार्ड समारोह में डॉ. नेहा शर्मा को फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर का पांचवा अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गयी। शाम को आयोजित इस कार्यक्रम में सुश्री जयन्ती डालमिया, अध्यक्ष, फिक्की फ़्लो सुश्री किरण गेहरा, पूर्व अध्यक्ष, फिक्की फ़्लो , सुश्री उज्ज्वला सिंघानियां , पूर्व अध्यक्ष, फिक्की फ़्लो, सुश्री हरजिन्दर कौर, पूर्व अध्यक्ष, फिक्की फ़्लो, की मौजूदगी में 5वें चेंज ऑफ गार्ड समारोह का आयोजन हुआ।


इस अवसर पर फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर की नवनिर्वाचित अध्यक्ष डॉ. नेहा शर्मा ने कहा, फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर के अध्यक्ष के रूप में चुना जाना मेरे लिए सम्मान की बात है। अपने कार्यकाल के दौरान, मैं उत्तराखंड की महिलाओं को कृषि, स्टार्ट अप और उनकी पसंद के व्यापार में आवश्यक कौशल प्रदान करके उन्हें सशक्त बनाने पर विशेष ध्यानदूँगी।हमारे राज्य के लोग जब आत्मनिर्भर होंगे तो उनको दूसरे राज्यों में प्रवास पर कमी आएगी। हम महिला उद्यमियों के लिए विभिन्न सरकारी नीतियों पर ध्यान केंद्रित करेंगे। मेरा लक्ष्य पर्यटन, कृषि, डिजिटल साक्षरता और वित्तीय साक्षरता का क्षेत्र होगा। हमारे कई सदस्य आज सफल उद्यमी हैं, इसलिए मैं उत्तराखण्ड सरकार के साथ मिलकर काम करूंगी जिस से कि राज्य महिलाओं को सरकार से अधिक से अधिक सहायता मिले।

यह भी पढ़े :  रिपोर्ट पहाड़ो की : आज फिर बारिश ,बर्फबारी , दुःखद हिमाच्छादित क्षेत्र से गर्भवती महिला केअस्पताल ना पहुचने पर मौत

फिक्की फ़्लो उत्तराखण्ड चैप्टर की नई कार्यकारणी में सुश्री अनुराधा मल्ला वरिष्ठ उपाध्यक्ष, सुश्री चारू चौहान को उपाध्यक्ष, सुश्री रुचि जैन , कोषाध्यक्ष , सुश्री हरप्रीत कौर संयुक्त कोषाध्यक्ष, सुश्री मानसी विरमानी, सचिव और सुश्री मानसी रस्तोगी ,संयुक्त सचिव चुनी गयी हैं।
डॉ. नेहा शर्मा उत्तराखण्ड की एक अनुभवी उद्यमी और सामाजिक कार्यकर्ता हैं जिनके पास 15 से अधिक वर्षों का कार्य अनुभव है। वह भाजपा यूथ विंग, उत्तराखंड की राज्य प्रवक्ता भी हैं। वह मुख्य रूप से कौशल और बाल शिक्षा के माध्यम से महिला सशक्तिकरण पर ध्यान केंद्रित करते हुए समाज के वंचित वर्ग के उत्थान के लिए जमीनी स्तर पर प्रदेश भर में काम कर रही है। वह उत्तराखण्ड में एक प्रमाणित जैविक फार्म भी चलती है और फूलो की खेती का व्यवसाय भी करती है। प्रदेश में उद्यमी बनने की इच्छा रखने वाली महिलाओं के लिए वह प्रेरणा स्रोत भी है।

यह भी पढ़े :  हरीश रावत को ईवीएम मशीन बदलने का नहीं बल्कि कॉंग्रेस के हारने का सता रहा डर : चौहान

पुरस्कार और उपलब्धियां :
• 2018 में उन्हें अंबेडकर मंडल भारतीय जनता पार्टी द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर शक्ति सम्मान पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।
• 2018 में ही उन्हें श्रीमती रेखा आर्य, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री , उत्तराखण्ड सरकार द्वारा नव ज्योति जन कल्याण समिति से सम्मानित किया गया।
• सॉफ्ट्रोनिक सोशल वेलफेयर सोसाइटी के 17वें वार्षिक दिवस पर वीमेन अचीवर अवार्ड से सम्मानित।
• 7वां कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व शिखर सम्मेलन, 2019, नई दिल्ली में महिला एवं बाल शिक्षा और व्यावसायिक प्रशिक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए पुरुस्कार प्राप्त हुआ।
• प्रमाणित जैविक ब्रांड हिमालयन काफल के संस्थापक के रूप में राष्ट्रीय उद्यमी पुरस्कार , नई दिल्ली 2021 से सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here