*आगनवाड़ी कार्यकर्त्री प्रदेश की रीढ़ :- CM धामी*

*हर आगनवाड़ी कार्यकर्त्री प्रदेश की तुलसी:- मंत्री रेखा आर्या*

आज महिला सशक्तीकरण एवम बाल विकास विभाग के अंतर्गत कार्यरत आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों एवं सहायिकाओं द्वारा आंगनवाड़ी संगठनों द्वारा वर्षों से की जा रही मानदेय बढ़ाने संबंधी मांग को पूरा करने हेतु मा0 मुख्यमंत्री जी एवं मा0 विभागीय मंत्री जी के आभार अभिव्यक्ति हेतु गढ़वाल मंडल की कार्यकर्त्रियों द्वारा भव्य कार्यक्रम का आयोजन सनातन धर्म इंटर कॉलेज (बन्नू स्कूल) में किया गया। जिसमें गढ़वाल मंडल की लगभग 20 हज़ार कार्यकर्त्रियां उपस्थित रहीं।

कार्यकर्त्रियों द्वारा मा0 मुख्यमंत्री जी एवं मा0 कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य जी को सम्मान स्वरूप एवं भावी विजय की कामना से चांदी का मुकुट पहनाया गया,जो कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण रहा।

इस दौरान मा0 मुख्य मंत्री जी ने आंगनवाड़ी कार्मिकों के मानदेय बढ़ाने की घोषणा को अमली जामा पहनाते हुए गत माह के बढ़े हुए मानदेय को मंच से ही एक क्लिक पर आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों के खाते में स्थानांतरित किया। 33614 आंगनवाड़ी कार्मिकों के खाते में एक साथ धनराशि के ऑनलाइन DBT हस्तांतरण हेतु Indusind बैंक द्वारा तकनीकी सहयोग प्रदान किया गया।

 

मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकर्त्रियों/मिनी कार्यकर्त्रियों एवं सहायिकाओं द्वारा लंबे समय से मानदेय वृद्धि को लेकर चली आ रही मांग को धामी सरकार द्वारा न सिर्फ पूरा किया गया बल्कि एक सम्मानजनक वृद्धि के साथ उनको महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास की रीढ़ के रूप में पहचान दिलायी तथा उनकी सरकार ने सदैव आंगनवाड़ी कर्मी और महिला मुद्दों हेतु संवेदनशीलता से कार्य किया है । उत्तराखंड उन शीर्ष राज्यों में से एक है जहाँ आंगनवाड़ी कार्मिकों के मानदेय में राज्य सरकार द्वारा केंद्र सरकार से अधिक अंश दिया जा रहा है। ध्यातव्य है कि गत माह आंगनवाड़ी कार्यकर्त्री, मिनी कार्यकर्त्री एवं सहायिकाओं के मानदेय में क्रमशः 1800, 1500 एवं 1500 की वृद्धि की गई है। मुख्यमंत्री जी ने ये भी कहा कि उनकी सरकार ने आंगनवाड़ी कार्मिकों को न सिर्फ विभाग की बल्कि सामुदायिक स्वास्थ्य एवं जागरूकता अभियान की रीढ़ के रूप आनगांवड़ी कार्यकर्त्रियों के महत्व को सदैव माना है और इसलिए उनके हक में प्रति कार्मिक रु0 12000/- प्रोत्साहन राशि दिए जाने, मानदेय बढ़ाये जाने के अतिरिक्त उनको 180 दिन का मातृत्व अवकाश दिए जाने, सेवानिवृत्ति पर आँगनवाड़ी कल्याण कोष से एकमुश्त धनराशि दिए जाने तथा सेनेटरी नैपकिन की बिक्री पर प्रति पैकेट प्रोत्साहन राशि दिए जाने संबंधी निर्णय भी लिए गए। इस अवसर पर मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा आंगनवाड़ी कार्मिकों को 2 लाख रुपये की जीवन बीमा पॉलिसी से आच्छादित करने की घोषणा के साथ उनके समयबद्ध मानदेय भुगतान एवं उसकी सूचना को पूर्णतः डिजिटल करने तथा सुपरवाइजर पद हेतु आवेदन को पूर्णतः डिजिटल करने की घोषणा की।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड : 26 साल के युवक की सर पर गोली मारकर हत्या, तहकीकात मै जुटी पुलिस ।

मा0 विभागीय मंत्री जी ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी के इसी ऐतिहासिक निर्णय का आभार व्यक्त करने हेतु प्रदेश भर के लगभग 35 हज़ार आंगनवाड़ी कार्मिको द्वारा ‘आभार अभिव्यक्ति समारोह’ आयोजित किया जा रहा है जो कि बीते पांच वर्षों में विभाग की ‘सफलता की गूंज’ के रूप में देखा जाना चाहिए। बीते पांच वर्षों में आंगनवाड़ी केंद्रों को ग्राम स्तर पर स्वास्थ्य एवं पोषण की धुरी मानते हुए आंगनवाड़ी केंद्रों में गैस सिलिंडर, पेयजल, शौचालय, स्वच्छता किट, वृद्धि निगरानी हेतु मशीनें, प्री स्कूल किट, मेडिसिन किट तथा किचन गार्डन आदि अनेक सुविधाएं उपलब्ध कराई गईं हैं। और ग्राम स्तर पर आंगनवाड़ी कार्मिकों की सशक्त एवं सक्रिय उपस्थिति का परिणाम है कि आंगनवाड़ी के केंद्रों के माध्यम से प्रतिमाह लगभग 9 लाख लाभार्थियों को पोषाहार उपलब्ध कराया जाता है। हड़ताल से इतर इतनी बड़ी संख्या में आंगनवाड़ी कार्मिकों का जुटना एक ऐतिहासिक जश्न है ।

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री धामी की अध्यक्षता में आज शाम 5:00 बजे सचिवालय में मंत्रिमंडल की बैठक , कैबिनेट की बैठक में इनअहम प्रस्ताव पर लग सकती है मुहर

 

 

कार्यक्रम के दौरान गढ़वाल मंडल के प्रत्येक जनपद से आई आँगनवाड़ी कार्मिकों द्वारा मा0 मुख्यमंत्री जी तथा मा0 कैबिनेट मंत्री जो को शॉल एवं विभिन्न जनपदों से लाये गए स्थानीय उपहारों द्वारा सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर मा0 विधायक बद्रीनाथ  महेंद्र भट्ट, मा0 विधायक रुद्रप्रयाग  भरत सिंह चौधरी एवं मा0 विधायक रायपुर  उमेश शर्मा भी के अतिरिक्त विभागीय सचिव  हरि चंद्र सेमवाल, उपनिदेशक डॉ0 एस0 के0 सिंह, राज्य परियोजना अधिकारी डॉ0 अखिलेश कुमार मिश्रा सहित समस्त जिला कार्यक्रम अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here