बड़ी खबर उत्तराखंड से : शेरवुड स्कूल के प्रिंसिपल अमनदीप संधू सहित दो कर्मचारियाें को दो साल की सजा (अमिताभ बच्चन भी इसी स्कूल से पढ़ें हुए हैं।)

प्रसिद्ध शेरवुड स्कूल में छात्र की मौत के एक मामले में कोर्ट ने स्कूल के प्रधानाचार्य अमनदीप संधू के साथ वार्डन, सिस्टर को दो-दो साल के कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही 50-50 हजार रूपए का जुर्माना भी लगाया है। जुर्माना न देने पर छह माह की अतिरिक्त सजा होगी।आपको बता दें कि अमिताभ बच्चन भी इसी स्कूल से पढ़ें हुए हैं।

सजा तीन वर्ष से कम होने पर कोर्ट द्वारा नियमों को तहत तीनों आरोपियों को अंतरिम जमानत पर रिहा कर दिया गया है। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रमेश सिंह की न्यायालय में मामले की सुनवाई हुई। घटनाक्रम के मुताबिक 12 जनवरी को 2014 को शेरवुड स्कूल में कक्षा नौ में पढ़ने वाले नेपाल निवासी छात्र शान प्रजापति का स्वास्थ्य खराब हो गया था।

यह भी पढ़े :  भारतीय संस्कृति का संदेश वाहक है देश का संत समाजः श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज

विद्यालय प्रशासन ने पहले विद्यालय स्तर पर ही छात्र का प्राथमिक उपचार किया। तबियत में सुधार न होने पर छात्र को नैनीताल के ही बीडी पांडे जिला अस्पताल में उपचार कराया गया। पर यहां भी छात्र के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ। जिस पर छात्र को हल्द्वानी के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

यहां से छात्र को दो दिन के बाद दिल्ली रेफर किया गया पर रास्ते में ही छात्र शान ने दम तोड़ दिया। मामले में छात्र की मां नीना श्रेष्ठ ने तल्लीताल थाने में विद्यालय के प्रधानाचार्य अमनदीप संधू, सिस्टर पायल पाल व हाउस मास्टर रवि कुमार पर बेटे के उपचार उपलब्ध कराने में लापरवाही का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था।

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी करेंगे मुख्यमंत्री कॉन्क्लेव में प्रतिभाग

बुधवार को नैनीताल मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट रमेश सिंह की कोर्ट में मामले की सुनवाई हुई। सुनवाई के बाद सीजेएम ने तीनों आरोपियों को लापरवाही का दोषी पाते हुए सजा सुनाई। मामले में एपीए देवेंद्र कुमार मुनगली, हरीश चंद्र पांडे, शंकर सिंह चौहान ने पैरवी की। आरोप सिद्ध करने के लिए 15 गवाह पेश किए गए।

बचाव पक्ष के अधिवक्ता ने कहा कि इस मामले में तय एक महीनें की समयावधि के क्रम में सेशन न्यायालय में अपील की जाएगी। इस बाबत शेरवुड स्कूल के प्रधानाचार्य अमनदीप संधू ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here