हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

 

प्रयागराज: साधु संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद से जुड़ी बड़ी खबर। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि हुए ब्रह्मलीन प्रयागराज के बाघमबरी मठ में हुआ निधन। मौत की वजह अभी साफ नहीं। साधु संतों में शोक की लहर।।

देश भर में अपने बयान से सुर्खियों में रहने वाले अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। उनका शव अल्लापुर में बांघबरी गद्दी मठ के कमरे में फंदे से लटका मिला है। खबर मिलते ही पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। आइजी रेंज केपी सिंह ने बताया कि वह मौके पर पहुंच गए हैं। फिलहाल यह फांसी लगाकर आत्महत्या का मामला लग रहा है। फोरेंसिक टीम को घटनास्थल पर बुलाया गया है।

यह भी पढ़े :  देहरादून में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत और नगर विकास मंत्री मदन कौशिक ने नगर निगम हरिद्वार को 10 करोड़ 9 लाख रुपये का चेक प्रदान किया

शिष्य आनंद गिरि से विवाद रहा चर्चित

 

संगम तट स्थित लेटे हनुमान मंदिर के महंत स्वामी नरेंद्र गिरि और उनके शिष्य चर्चित योग गुरू आनंद गिरि के बीच पिछले दिनों विवाद सुर्खियों में रहा है। आनंद गिरि को अखाड़ा परिषद तथा मठ बाघंबरी गद्दी के पदाधिकारी के पद से निष्कासित कर दिया गया था। तब दोनों ने एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप भी किए थे। तमाम साधु संत ने महंत नरेंद्र गिरि का समर्थन किया था। नरेंद्र गिरि ने कहा था कि आनंद गिरि माफी मांगे तब उनके बारे में कुछ सोचा जा सकता है। बाद में आनंद गिरि ने माफी मांग ली थी हालांकि उनका निष्कासन वापस नहीं किया गया।

यह भी पढ़े :  आज की बडी ख़बर : कांवङ यात्रा को स्थगित किया गया , तीन राज्य के c.m ने लिया फैसला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here