सीएम धामी ने भी बाँट दिए मंत्रियो को विभाग देखिए किसको क्या मिला

साल 2022 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा संगठन दो तिहाई बहुमत के साथ-साथ सत्ता पर काबिज हुई है। लिहाजा भाजपा आलाकमान ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पर एक बार फिर भरोसा जताते हुए उत्तराखंड राज्य की कमान उनके हाथों में सौंपी है जिसके बाद 23 मार्च को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत आठ विधायकों ने मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ ली थी। ओर आज
सभी मंत्रियों के पोर्टफोलियो को जारी कर दिया गया है।
जारी किए गए पोर्टफोलियो के अनुसार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने पास 21 विभागों को रखा है जिसमें मंत्री परिषद, कार्मिक एवं सतर्कता, सचिवालय प्रशासन, सामान्य प्रशासन, नियोजन, राज्य संपत्ति, सूचना, गृह,  राजस्व, औद्योगिक विकास एवं खनन, औद्योगिक विकास,  श्रम, सूचना प्रौद्योगिकी एवं विज्ञान प्रौद्योगिकी, पेयजल, उर्जा, आयुष एवं आयुष शिक्षा, आबकारी, न्याय, पर्यावरण संरक्षण एवं जलवायु परिवर्तन, आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास और नागरिक उड्डयन विभाग को अपने पास रखा है।
कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को 8 विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है जिसमें लोक निर्माण विभाग, पंचायती राज, ग्रामीण निर्माण, संस्कृति, धर्मस्व, पर्यटन, जलागम प्रबंधन, सिंचाई एवं लघु सिंचाई की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
दरअसल धामी 1.0 कैबिनेट में भी कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को यही जिम्मेदारियां सौंपी गई थी।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड से बड़ी ख़बर : अभी तक आज तीन लोगो मैं पाया गया कोरोना पाजिटिव।

कैबिनेट मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल को बड़ी जिम्मेदारी सौंपते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वित्त विभाग समेत 5 विभागों की जिम्मेदारी सौंपी है।
जिसमें वित्त विभाग, शहरी विकास आवास, विधायी एवं संसदीय कार्य, पुनर्गठन और जनगणना शामिल है।

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी को तीन विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है जिसमें कृषि एवं कृषक कल्याण, सैनिक कल्याण और ग्राम विकास की जिम्मेदारी सौंपी गई है। दरअसल, कृषि एवं कृषक कल्याण विभाग पिछली सरकार में कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को दिया गया था लेकिन इस बार कृषि एवं कृषक कल्याण विभाग को कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी को दिया गया है।
कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत को छह विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है जिसमें मुख्य रुप से विद्यालय शिक्षा बेसिक, विद्यालय शिक्षा माध्यमिक, संस्कृत शिक्षा, सहकारिता, उच्च शिक्षा और चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पिछली धामी कैबिनेट मैं धन सिंह रावत को विद्यालय शिक्षा बेसिक व माध्यमिक की जिम्मेदारी नहीं मिली थी लेकिन इस बार अरविंद पांडे को कैबिनेट मंत्री बनाए जाने पर उनके मुख्य विभाग माध्यमिक एवं बेसिक विद्यालय शिक्षा को भी धन सिंह रावत को सौंपा गया है।
कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल को चार विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है जिसमें मुख्य रुप से वन विभाग भी शामिल है। चारों विभागों में वन विभाग, भाषा, निर्वाचन और तकनीकी शिक्षा शामिल है। हालांकि पिछले सरकार में सुबोध उनियाल को ना सिर्फ शासकीय प्रवक्ता बनाया गया था बल्कि कृषि एवं कृषक कल्याण विभाग भी इन्हीं के पास था।
कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य को तीन विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिसमें मुख्य रुप से महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले, और खेल एवं युवा कल्याण विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास को चार विभागों की जिम्मेदारी सौंपी गई है जिसमें समाज कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, परिवहन और लघु एवं सूक्ष्म एवं मध्यम उद्यम की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा को पशुपालन -दुग्ध विकास एवं मत्स्य पालन, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग, प्रोटोकॉल,  कौशल विकास एवं सेवायोजन की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here