अंकिता हत्याकांड के तीनों आरोपियों के नार्को और पॉलीग्राफ टेस्ट के मसले पर आज फैसला टल गया। अभियोजन पक्ष ने कोर्ट से समय मांगा है। मामले में अब 10 जनवरी को फैसला आएगा। एसआईटी की ओर से बीते नौ दिसंबर को अदालत में अर्जी लगाई गई थी जिसमें तीनों आरोपियों से उनकी सहमति मांगी गई थी

मंगलवार को गोलमोल जवाब मिलने और इस मामले में बहस पूरी होने के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। अदालत को आज 5 जनवरी को नार्को टेस्ट कराने अथवा न कराने पर अपना फैसला सुनाना था। अजय पंत ने बताया कि वह इस केस में अभियोजन पक्ष के साथ हैं और अंकिता के पिता की ओर से पैरवी कर रहे हैं, लेकिन आज फैसला टल गया।

पौड़ी निवासी अंकिता 18 सितंबर 2022 को लापता हुई। चार दिन बाद पुलिस ने उसकी हत्या का केस दर्ज कर भाजपा नेता और पूर्व राज्यमंत्री विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य, उसके दोस्त सौरभ और अंकित को गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान पता चला कि अंकिता पर एक वीआईपी को स्पेशल सर्विस देने के लिए दबाव बनाया गया था। वीआईपी के बारे में और हत्या से जुड़े कुछ सवालों का जवाब जानने के लिए एसआईटी ने कोर्ट में तीनों आरोपियों का नार्को और पॉलीग्राफिक टेस्ट कराने की अनुमति के लिए अर्जी दी।

यह भी पढ़े :  देहरादून : दिल्ली से आने वाली एक्सप्रेस की चपेट में आने से 1 व्यक्ति की मौत

पहली सुनवाई में पुलकित और सौरभ ने सहमति प्रदान की जबकि अंकित ने दस दिन का वक्त मांगा। दस दिन बाद हुई अगली सुनवाई में तीनों ने नार्को टेस्ट से इनकार कर दिया। पुलकित और सौरभ ने पूर्व में दी सहमति का पत्र वापस ले लिया

यह रखी आरोपियों ने शर्ते
नार्को टेस्ट कोर्ट के संरक्षण में ही कराया जाए
टेस्ट की वीडियोग्राफी भी कोर्ट के समक्ष लाइव कराई जाए।
नार्को टेस्ट की वीडियोग्राफी की टेंपरिंग न हो।
इस दौरान वकील को साथ रखने की अनुमति प्रदान की जाए

 

जानिए कब कब क्या हुआ
18 सितंबर 2022 को लापता हुई पौड़ी की अंकिता भंडारी
19 सितंबर 2022 को राजस्व पुलिस ने दर्ज की गुमशुदगी
23 सितंबर 2022 पुलिस ने भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित, उसके दोस्त सौरभ और अंकित को गिरफ्तार कर भेजा जेल
24 सितंबर 2022 को आरोपियों की निशानदेही पर अंकिता का शव चीला डैम से बरामद
29 सितंबर 2022 को अंकिता के दोस्त पुष्प से पूछताछ, वीआईपी का जिक्र उजागर
02 अक्तूबर 2022 को तीनों आरोपियों को पुलिस ने रिमांड पर लिया और 400 से ज्यादा सवाल पूछे।
06 दिसंबर 2022 को हत्याकांड से जु़ड़े वीआईपी का नाम जानने के लिए एसआईटी ने कोर्ट में आरोपियों का नार्को टेस्ट कराने की याचिका दायर की।
12 दिसंबर 2022 को तीन आरोपियों में से पुलकित और सौरभ ने जेलर के माध्यम से नार्को टेस्क के लिए सहमति जताई जबकि अंकित ने वक्त मांगा।
22 दिसंबर 2022 को तीनों आरोपियों ने नार्को टेस्ट से इनकार कर दिया। पुलकित और सौरभ ने पूर्व में वकील के जरिए दिया सहमति पत्र वापस ले लिया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here