उत्तराखंड: वो 26 साल की अपनी पत्नी को दिल्ली से नैनीताल लाया , उसे मार डाला, खुलासा हुआ 45 दिन बाद जब मिला सड़ा-गला शव

ऐसा लगता है कि उत्तराखंड की हसीन वादियों को कातिलों ने कत्ल करने का अड्डा भी बना डाला है
क्योकि बात ही कुछ ऐसी है
बता दे कि दिल्ली से नैनीताल लाकर एक युवक ने अपनी पत्नी की गला दबाकर जान ले ली और शव हल्द्वानी-नैनीताल हाईवे पर बेलुवाखान के पास कलमठ में ठिकाने लगा दिया। फिर दिल्ली पुलिस की तहकीकात में मामला 45 दिन बाद खुला तो महिला का सड़ा गला शव बरामद किया गया। दोनों की सात महीने पहले ही शादी हुई थी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया है। 

यह भी पढ़े :  दिल्ली में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मिले दिवंगत सीडीएस बिपिन रावत के भाई कर्नल विजय रावत

ख़बर विस्तार से
चाणक्य पैलेस डाबरी द्वारिका नई दिल्ली निवासी डाली राम ने 15 जून को दिल्ली के द्वारिका थाने में अपनी 26 वर्षीय बेटी बबीता की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट में इस बात की आशंका जताई गई कि बबीता को उसके ससुरालियों ने ही लापता किया है। उन्होंने ससुरालियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। डाली राम की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने बबीता की खोजबीन की तो 12 जून को उसके मोबाइल की लोकेशन नैनीताल-हल्द्वानी रोड पर हनुमानगढ़ी के आसपास मिली।
इसके बाद दिल्ली पुलिस ने बबीता के पति राजेश राय निवासी तितलिया पुर शक्तिफार्म ऊधमसिंह नगर और ससुरालियों से पूछताछ की लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। बाद में पुलिस ने सख्ती की तो राजेश राय ने सब कुछ उगल दिया।
दिल्ली पुलिस के मुताबिक राजेश राय ने बताया कि उसने 11 जून को पत्नी बबीता की हत्या कर उसके शव को नैनीताल के पास एनएच के एक कमलठ में ठिकाने लगाया है। सोमवार को दिल्ली पुलिस के एसआई नरेंद्र सिंह, कांस्टेबल सुनील कुमार और शाहिद राजेश को साथ लेकर नैनीताल पहुंचे।
उन्होंने राजेश कीनिशानदेही पर एनएच से लगे रिया तोक के पास एक कमलठ से बबीता का सड़ा गला शव बरामद कर लिया। तल्लीताल के थानाध्यक्ष विजय मेहता ने बताया कि राजेश राय के खिलाफ धारा 201 और 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here