क्षेत्र पंचायत द्वारीखाल की बैठक में प्रमुख महेन्द्र सिंह राणा नेअधिकारियों को दिये कार्य प्रणाली में सुधार के निर्देश


आज क्षेत्र पंचायत द्वारीखाल की क्षेत्र पंचायत समिति की बैठक जनरल विपिन रावत सभागार में प्रमुख महेन्द्र राणा की अध्यक्षता में शुरू हुई

इससे बैठक से पहले प्रमुख महेन्द्र राणा, जिलाधिकारी पौडी डा0 जोगदांडे, मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पाण्डे द्वारा विकासखण्ड परिसर में हरेला कार्यक्रम के अन्तर्गत फल-पौध रोपण कार्य किया गया।
बैठक में विभागवार समीक्षा की गयी। प्रमुख महेन्द्र राणा ने जिलाधिकारी पौडी डा0 जोगदांडे एवं मुख्य विकास अधिकारी अपूर्वा पाण्डे को द्वारीखाल क्षेत्र पंचायत में प्रथम बार प्रतिभाग करने पर शाल ओढाकर सम्मानित किया।

प्रमुख महेन्द्र राणा ने अपने सम्बोधन में सभी जन प्रतिनिधियों/अधिकारियों का बैठक में उपस्थित होने पर धन्यवाद ज्ञापित किया।
उन्होंने कहा कि मैंं जनता के प्रति जबावदेह हूँ। जो भी जन समस्याएं यहां पर रखी हैं, उनका निदान एक सप्ताह में करें।
निर्धन परिवारों के हित में जो भी योजनाएं हैं उनको प्राथमिकता के आधार पर निस्तारित करेें।
बैठक की कार्यवाही निम्नवत रहीः-
1. सेवायोजन विभागः- सेवा योजन पंजीकरण, कैरियर काउंसलिंग के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी।
2. समाज कल्याण विभागः- ग्राम प्रधान डोबरी गजेन्द्र सिंह द्वारा पति-पत्नी दोनों को वृद्वावस्था पेंशन की जानकारी चाही गयी।
सहा0 समाज कल्याण अधिकारी हरपाल रावत द्वारा जानकारी दी गयी कि जिनके पौत्र 20 वर्ष से अधिक हैं वे पात्र नही है। प्रधान ग्राम पंचायत बल्ली द्वारा सुलोचना देवी को विधवा पेंशन न मिलने की जानकारी दी गयी।
3. उद्यान विभागः- प्रधान गूम ढांगू की शिकायत आलम पर झुलसा रोग पर की गयी। सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों द्वारा कीटनाशक स्प्रे की जानकारी दी गयी। उद्यान विभाग द्वारा उत्पादों के रख रखाव हेतु कोल्ड रूम की जानकारी भी दी गयी। कोल्ड रूम पर 7.50 लाख रू0 की सब्सिडी की जानकारी अधिकारी द्वारा दी गयी।
4. कृषि विभागः- क्षेत्र पंचायत सदस्य गूम ढांगू द्वारा अच्छी गुणवत्ता के बारे में शिकायत की गयी जिसमें अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि बीज अच्छी गुणवत्ता मानक की प्रमाणीकरण संस्था द्वारा वितरित किया जाता है।
5. लोक निर्माण विभागः- उक्त की चर्चा में अधिकारियों द्वारा सन्तोषजनक उत्तर न देने के फलस्वरूप जिलाधिकारी एवं प्रमुख की द्वारा नाराजगी व्यक्त की गयी।
6. राष्ट्रीय राजमार्ग की चर्चा में अधिकारियों द्वारा जन प्रतिनिधियों को सही जानकारी न देने पर जिलाधिकारी महोदय एवं प्रमुख द्वारा नाराजगी व्यक्त की गयी तथा कार्यशैली में सुधार लाने के निर्देश दिए गये। गूमखाल से घटटूघाट तक सडक की स्थिति बदहाल है इसे जल्द से जल्द ठीक किया जाए।
जिलाधिकारी पौडी डा0 जोगदांडे में विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे क्षेत्र पंचायत की बैठकों में जन प्रतिनिधियों द्वारा उठाए गये सवालों के प्रत्युत्तर एक सप्ताह में प्रमुख एवं खण्ड विकास अधिकारी को लिखित रूप में अवगत करायें।

यह भी पढ़े :  वैसे इन बातों को तूल नहीं देना चाहिए लेकिन सोशल मीडिया पर खूब शेयर कर रहे है लोग....

इस अवसर पर प्रधान संगठन अध्यक्ष अर्जुन सिंह, जिला पंचायत सदस्य कूलभूषण, कनिष्ठ प्रमुख रविन्द्र रावत, क्षेत्र पंचायत सदस्य राजमोहन सिंह, क्षेत्र पंचायत सदस्य ममता रावत, क्षेत्र पंचायत सदस्य भारत सिंह, बिटटू सिंह चांदपुर, मस्तान सिंह पाली , क्षेत्र पंचायत सदस्य किरत सिंह रावत, क्षेत्र पंचायत सदस्य राखी राणा, , क्षेत्र पंचायत सदस्य विक्रम बिष्ट, प्रधान दीपचन्द शाह, उषा देवी नैरूल, सतीशचन्द सिंह भलगांव, प्रभाकर डोबरियाल भलगावं डाडामण्डी, राहुल बन्दिला यशपाल सिंह दिउसा विजय सिह कलोडी उषा देवी बल्ली, मुन्नी देवी रिंगावाडगांव, श्याम सिंह सिमल्या लं0, समस्त जिला स्तरीय अधिकारी तथा समस्त क्षेत्रीय कर्मचारी आदि उपस्थित रहें। बैठक का संचालन खण्ड विकास अधिकारी जयकृत सिंह बिष्ट एवं सहा0 विकास अधिकारी पं0 सज्जन सिंह रावत ने संयुक्त रूप से किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here