उत्तराखंड : गेहूं और आटे के दामों में इजाफा, 15 फीसदी तक की बढ़ोतरी पढ़े पूरी खबर

उत्तरााखंड में गेहूं और आटे के दाम में 10 से 15 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो गई है। चक्की पर मिलने वाले खुले आटे से लेकर बड़ी कंपनियों के ब्रांडेड आटे के प्रति दस किलो के पैक की कीमत 20 से 25 रुपये तक बढ़ गई है। पर्वतीय क्षेत्रों में ट्रांसपोर्ट खर्च जुड़ने से गेहूं और आटे के मूल्य में बढ़ोत्तरी थोड़ी और ज्यादा है।

इस बढ़ोतरी के पीछे इस साल सरकारी केंद्रों के बजाए खुले बाजार में गेहूं की अधिक बिक्री को भी वजह माना जा रहा है। साथ ही पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना में गेहूं की मात्रा घटने और सामान्य रियायती अनाज योजना से गेहूं की सप्लाई को पूरी तरह से बंद करने के कारण गेहूं की मांग में इजाफा हुआ है।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड देवभूमि शर्मशार हो गई : सात साल की मासूम से उसके पिता ने ही दुष्कर्म कर डाला!! , अभी अभी पुलिस ने किया गिरफ्तार

सरकारी खरीद केंद्रों पर नहीं के बराबर आए किसान: सरकार ने इस साल 22 लाख कुंतल गेहूं खरीदने का लक्ष्य रखा था। प्रति कुंतल 2015 रुपये न्यूनतम समर्थन मूल्य के साथ सरकार ने किसानों को हर कुंतल पर 20 रुपये बोनस भी दिया। लेकिन इस बार किसानों ने केवल 21 हजार 260 कुंतल गेहूं की सरकारी खरीद केंद्रों पर बेचा। खुले बाजार में बेहतर मूल्य मिलने के कारण किसानों ने अपनी अधिकांश उपज को कारोबारियों और बड़ी फर्मों को ही बेचा है।

गढ़वाल मंडल
रुद्रप्रयाग में गेहूं का मूल्य 2200 से बढ़कर 2500 तक आ गया है। ब्रांडेड आटे के दस किलो के बैठ का मूल्य यहां भी 20 रुपये तक बढ़ा है। टिहरी में आटे के बैग में 30 रुपये तक की वृद्धि है। पौड़ी में भी यही स्थिति है। यहां चक्की का आटा प्रति किलो 26 से बढ़कर 30 रुपये तक हो गया है। रुड़की समेत बाकी स्थानों पर कमोवेश यही स्थिति है।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड: 5 साल में बनेगा सर्वश्रेष्ठ राज्य, भ्रष्टाचार पर उपदेश दे रही कांग्रेस : चौहान

कुमाऊं मंडल
हल्द्वानी में गेहूं का मूल्य 2100 से बढ़कर 2300 रुपये और ब्रांडेड आटा प्रति किलो दो रुपये तक महंगा हुआ है। पिथौरागढ़ में गेंहू की तीन माह पहले कीमत 22 रुपये प्रति किलो थी। आज गेहूं का रेट 25 रुपये प्रति किलो है। ब्रांडेड आटा दो रुपये तो चक्की आटा साढ़े रुपये तक महंगा हुआ है। अल्मोड़ा में पैकिंग वाले आटे की कीमत तीन से चार रुपये प्रति किलो बढ़ी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here