उत्तराखंड पुलिस ने ऋषिकेश में साधु के भेष में रह रहे ठग महेंद्र उर्फ जोगी प्रियव्रत अनिमेष को गिरफ्तार किया है । अनिमेष पर साधु बनकर जौहरी हितेंद्र पवार की पत्नी से 1.75 करोड़ की ज्वैलरी ठगने का आरोप है । पुलिस अधिकारियों के अनुसार मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जुलाई को ठग अनिमेष कि अध्यात्म और नेतिक मूल्यों पर आधारित किताब मानस मोती की लांचिंग बीजापुर गेस्ट हाउस में की थी ।हम आपको बता दें कि बाबा बीते दिनों डीजीपी अशोक कुमार को भी मिल चुका था । वहीं इसके बड़े पॉलीटिकल और अधिकारियों से कनेक्शन है , लेकिन कनेक्शन कितने ही बड़े हो अपराधी पुलिस की पकड़ से बाहर नहीं जाता ।

आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, ठग ने आध्यात्मिक और नैतिक मूल्यों पर आाधारित अपनी पुस्तक ‘मानस मोती’ का विमोचन उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी से नौ जुलाई को देहरादून के बीजापुर अतिथि गृह में करवाया था। मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक विज्ञप्ति में किताब की एक प्रति पकड़े हुए धामी की एक तस्वीर भी मीडिया के साथ साझा की गई थी। तस्वीर में धामी को अनिमेष के साथ देखा जा सकता है। डीएसपी ने कहा कि ठग को उसके खिलाफ ऋषिकेश के जाने-माने जौहरी हितेंद्र पंवार की शिकायत के आधार पर एक मामला दर्ज करने के बाद गिरफ्तार किया गया, जिसने अनिमेष पर उसकी पत्नी से लगभग 1.75 करोड़ रुपये की नकदी और आभूषणों की ठगी करने का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड : मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने कहा कि राज्य सरकार ने गन्ना किसानों का 100 परसेंट पेमेंट किया है

शिकायत के अनुसार, जौहरी की पत्नी मानसिक रूप से बीमार है और धोखेबाज के जाल में फंस गई। पुलिस ने बताया कि हाई-प्रोफाइल ठग को राजनेताओं सहित प्रभावशाली लोगों के साथ फोटो खिंचवाने और अपने संपर्कों को दिखाने के लिए फेसबुक पर तस्वीरें पोस्ट करने की आदत थी। साधु का वेश बनाकर वह उन लोगों को ढूंढता था, जिन्हें आसानी से फंसाया जा सकता है और उनके पैसे ठग लेता था।

डीएसपी ने बताया कि ठग को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लेने के बाद उससे पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि अनिमेष के खिलाफ हरियाणा के करनाल में कई मामले दर्ज हैं। वह पहले भी दो बार अलग-अलग मामलों में जेल जा चुका है। उन्होंने बताया कि उसके पास से ठगी गई नकदी और जेवर बरामद करने का प्रयास किया जा रहा है।बड़ा सवाल ये उठता है कि मुख्यमंत्री के इर्द – गिर्द एलआईयू और इंटेलिजेंस की बड़ी फौज होती है । क्या इन फौजियों ने मुख्यमंत्री को ठग बाबा के बारे में कोई जानकारी नहीं दी होगी ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here