सीएम पुष्कर धामी के सख़्त निर्देश के बाद एसटीएफ की सर्जिकल स्ट्राइक लगातार जारी
अब उत्तराखंड स्थित एक यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारियों को देर रात STF की टीम ने गिरफ्तार किया ( UKSSSC परीक्षा एग्जाम पेपर पहली रात को सॉल्व किए गए थे)

सीएम पुष्कर धामी के सख़्त निर्देश के बाद एसटीएफ की सर्जिकल स्ट्राइक लगातार जारी
अब उत्तराखंड स्थित एक यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारियों को देर रात STF की टीम ने गिरफ्तार किया ( UKSSSC परीक्षा एग्जाम पेपर पहली रात को सॉल्व किए गए थे)

 

उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 परीक्षा पेपर लीक मामले में नकल माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर एसटीएफ की सर्जिकल स्ट्राइक जारी है. UKSSSC परीक्षा एग्जाम पेपर लीक करने के मामले में अब उत्तराखंड स्थित एक यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारियों को देर रात STF की टीम ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार दीपक चौहान और भावेश जगूड़ी के कब्जे से इस केस से संबंधित कई साक्ष्य व सबूत एकत्र किए गए हैं.

फिलहाल शिकंजे में लिए गए दोनों ही आरोपियों से इस पूरे गोरखधंधे से जुड़े नेटवर्क के विषय में विस्तृत पूछताछ जारी है.

उत्तराखंड एसटीएफ के मुताबिक गूगल सर्च हिस्ट्री ने UKSSSC परीक्षा परीक्षा पेपर लीक से संबंधित कई अहम राज खोले हैं. जिसके बारे में जांच पड़ताल जारी है. बताया जा रहा है कि एग्जाम से पहली रात को पेपर सॉल्व किए गए थे.

अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 स्नातक परीक्षा पेपर लीक मामले में देर रात जिस यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है, उनसे अभी तक की पूछताछ में कई अहम जानकारी प्राप्त हुई हैं. आरोपियों ने बताया कि एग्जाम से एक रात पहले देहरादून में पेपर सॉल्व किए गए थे. इस खुलासे को लेकर एसटीएफ को अहम सबूत और अन्य लोगों के भी सुराग हाथ लगे हैं. जिसके चलते आगे कार्रवाई जारी है.

अब तक 9 लोग गिरफ्तार

 बता दें कि उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 परीक्षा पेपर लीक कर परिणाम गड़बड़ी मामले में अब तक लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस कर्मचारी सहित 9 लोग STF द्वारा गिरफ्तार किए जा चुके हैं. हालांकि अभी मास्टरमाइंड की तलाश जारी है.
आरोप: गिरफ्तार दीपक चौहान और भावेश जगूड़ी UKSSSC परीक्षा के पेपर सॉल्व कराने में मदद करते थे. इसके साथ ही ये दोनों शातिर नकल कराने के भी मास्टर थे. उत्तराखंड के यूनिवर्सिटी में कार्यरत जिन दो कर्मचारियों को एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है इनके द्वारा ही UKSSSC 2021 परीक्षा पेपर को सॉल्व कर नकल करायी गयी थी. दोनों ही आरोपी एग्जाम से एक रात पहले देहरादून पहुंचे. जहां इन्होंने फिल्मी अंदाज में एक गुप्त स्थान में जाकर पेपर लीक करने वालों के साथ मिलकर अगले दिन आने वाले परीक्षा प्रश्न पत्र को सॉल्व किया और नकल की सामग्री भी उपलब्ध कराई. फिलहाल इनके साथ और कितना बड़ा नेटवर्क जुड़ा है, इस बात की पूछताछ और जांच पड़ताल चल रही है.
एसटीएफ इससे पहले गिरफ्तार आरोपियों में से 2 को सितारगंज लेकर पहुंची है. वहां कुछ अहम सुराग हाथ लगे हैं. वहीं दूसरी तरफ लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस के गिरफ्तार कर्मचारी को भी एसटीएफ की दूसरी टीम लखनऊ लेकर पहुंची है. जहां से UKSSSC परीक्षा प्रश्न पत्र लीक से जुड़े अन्य मामलों का भी खुलासा हो सकता है.

यह भी पढ़े :  हाइकोर्ट का बड़ा आदेश, केंद्र राज्य सरकार का दें 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का कोटा

उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 परीक्षा पेपर लीक मामले में नकल माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर एसटीएफ की सर्जिकल स्ट्राइक जारी है. UKSSSC परीक्षा एग्जाम पेपर लीक करने के मामले में अब उत्तराखंड स्थित एक यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारियों को देर रात STF की टीम ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार दीपक चौहान और भावेश जगूड़ी के कब्जे से इस केस से संबंधित कई साक्ष्य व सबूत एकत्र किए गए हैं.

फिलहाल शिकंजे में लिए गए दोनों ही आरोपियों से इस पूरे गोरखधंधे से जुड़े नेटवर्क के विषय में विस्तृत पूछताछ जारी है.

उत्तराखंड एसटीएफ के मुताबिक गूगल सर्च हिस्ट्री ने UKSSSC परीक्षा परीक्षा पेपर लीक से संबंधित कई अहम राज खोले हैं. जिसके बारे में जांच पड़ताल जारी है. बताया जा रहा है कि एग्जाम से पहली रात को पेपर सॉल्व किए गए थे.

यह भी पढ़े :  पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र जी के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए कहा मुख्यमंत्री जी ने अपनी बीमारी आदि की परवाह किये बिना भी किया काम , जिम्मेदारियों का रहता है इतना बोझ ....

 अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 स्नातक परीक्षा पेपर लीक मामले में देर रात जिस यूनिवर्सिटी के दो कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है, उनसे अभी तक की पूछताछ में कई अहम जानकारी प्राप्त हुई हैं. आरोपियों ने बताया कि एग्जाम से एक रात पहले देहरादून में पेपर सॉल्व किए गए थे. इस खुलासे को लेकर एसटीएफ को अहम सबूत और अन्य लोगों के भी सुराग हाथ लगे हैं. जिसके चलते आगे कार्रवाई जारी है.

अब तक 9 लोग गिरफ्तार

 बता दें कि उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 परीक्षा पेपर लीक कर परिणाम गड़बड़ी मामले में अब तक लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस कर्मचारी सहित 9 लोग STF द्वारा गिरफ्तार किए जा चुके हैं. हालांकि अभी मास्टरमाइंड की तलाश जारी है.
आरोप: गिरफ्तार दीपक चौहान और भावेश जगूड़ी UKSSSC परीक्षा के पेपर सॉल्व कराने में मदद करते थे. इसके साथ ही ये दोनों शातिर नकल कराने के भी मास्टर थे. उत्तराखंड के यूनिवर्सिटी में कार्यरत जिन दो कर्मचारियों को एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है इनके द्वारा ही UKSSSC 2021 परीक्षा पेपर को सॉल्व कर नकल करायी गयी थी. दोनों ही आरोपी एग्जाम से एक रात पहले देहरादून पहुंचे. जहां इन्होंने फिल्मी अंदाज में एक गुप्त स्थान में जाकर पेपर लीक करने वालों के साथ मिलकर अगले दिन आने वाले परीक्षा प्रश्न पत्र को सॉल्व किया और नकल की सामग्री भी उपलब्ध कराई. फिलहाल इनके साथ और कितना बड़ा नेटवर्क जुड़ा है, इस बात की पूछताछ और जांच पड़ताल चल रही है.
एसटीएफ इससे पहले गिरफ्तार आरोपियों में से 2 को सितारगंज लेकर पहुंची है. वहां कुछ अहम सुराग हाथ लगे हैं. वहीं दूसरी तरफ लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस के गिरफ्तार कर्मचारी को भी एसटीएफ की दूसरी टीम लखनऊ लेकर पहुंची है. जहां से UKSSSC परीक्षा प्रश्न पत्र लीक से जुड़े अन्य मामलों का भी खुलासा हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here