उत्तराखंड कांग्रेस ने लगभग 30 दिन के भीतर प्रदेश अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष के नाम का एलान किया है।
वही एलान के बाद पार्टी के अंदर एक बार फिर खींचतान शुरू हो गयी है। अक्सर शांत व्यवहार के लिए जाने वाले पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल, प्रभारी देवेंद्र यादव और अविनाश पांडेय पर हमला बोला है।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा की यदि गुटबाज़ी के चलते पार्टी को हार मिली और उस गुटबाज़ी का हिस्सा अगर वो भी है, तो फिर वो अपनी विधायकी से इस्तीफ़ा देने को तैयार है।
साथ ही उन्होने कहा कि अविनाश पांडेय और प्रभारी यादव को वो रिपोर्ट भी सार्वजनिक करनी चाहिए, जिसमें कहा गया है की पार्टी गुटबाज़ी के चलते हारी है।
प्रीतम सिंह ने कहा कि गुटबाजी के चलते पार्टी हारने के बात पर जांच होनी चाहिए
वैसे सूत्र बताते हैं कि पीतम सिंह के पास राजनीतिक तौर पर विकल्प भी है और वह जल्दी बड़ा ऐलान कर सकते हैं माना जा रहा कि प्रीतम सिंह भविष्य में टिहरी लोकसभा से चुनाव के मैदान में उतरेंगे
और चकराता विधानसभा से उनके बेटे उनकी राजनीतिक विरासत को आगे बढाएंगे
बहराल अब देखना ये है कि आगे आगे क्या होता है..

यह भी पढ़े :  देहरादून के मेयर को कुछ मत कहना , क्या हुवा अगर कुछ घण्टे जाम मै फस गए तो, पॉलीथिन मुक्त होगाअपना देहरादून!

वही सूत्र बताते हैं कि काग्रेस के लगभग 5 से 6 विधायक भाजपा के सम्पर्क में  हैं और कभी भी वह   बड़ा ऐलान कर सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here