उत्तराखंड में इस तरीख को होनी है नर्सो की भर्ती परीक्षा ,9000 उम्मीदवार किस्मत आजमाएंगे सभी को सुभकामनाये

हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

उत्तराखंड में इस तरीख को होनी है
नर्सो की भर्ती परीक्षा ,9000 उम्मीदवार किस्मत आजमाएंगे सभी को सुभकामनाये

उत्तराखंड में नर्सों के 2621 पदों पर भर्ती की परीक्षा तिथि जारी कर दी गई है।
स्वास्थ्य विभाग से पत्र मिलने के बाद परिषद ने नर्स भर्ती परीक्षा के लिए 28 मई की तिथि तय की है।
यह परीक्षा देहरादून में 17 और हल्द्वानी में 10 केंद्रों पर आयोजित की जाएगी।
प्राविधिक शिक्षा परिषद के संयुक्त सचिव मुकेश पांडेय ने बताया कि कुल 2621 पदों के लिए 9001 उम्मीदवारों ने आवेदन किया हुआ है। जिनमें उत्तराखंड से बाहर के राज्यों के भी उम्मीदवार शामिल हैं। सभी उम्मीदवारों के लिए अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने परिवहन निगम को पत्र भेजकर बसों के संचालन की जिम्मेदारी सौंपी है।
वहीं देहरादून और नैनीताल के जिलाधिकारी को शासन ने पत्र भेजकर बाहर से आने वाले उम्मीदवारों के ठहरने का इंतजाम करने को कहा है। वैसे तो कोविड काल में बोर्ड, विवि और तमाम भर्ती परीक्षाएं स्थगित हैं लेकिन नर्सों की कमी दूर करने के लिए सरकार विशेषतौर पर यह परीक्षा आयोजित कराने जा रही है। गौरतलब है कि यह परीक्षा पहले 18 अप्रैल को आयोजित की जानी थी लेकिन कोविड संक्रमण की वजह से स्थगित कर दी गई थी।परीक्षा के लिए पंजीकृत उम्मीदवारों में देहरादून और नैनीताल के सबसे अधिक हैं।
देहरादून के 2673
और नैनीताल के 1222 उम्मीदवार पंजीकृत हैं।
इसके अलावा चमोली के 280,
हरिद्वार के 759,
पौड़ी के 465,
रुद्रप्रयाग के 159
, टिहरी के 372,
उत्तरकाशी के 321,
अल्मोड़ा के 477,
बागेश्वर के 262,
चंपावत के 126
पिथौरागढ़ के 723
और ऊधमसिंह नगर के 759 उम्मीदवारों ने आवेदन किया है।
वहीं, उत्तर प्रदेश के 165
, दिल्ली के 156,
हरियाणा के 31
और पंजाब से 16
उम्मीदवारों ने भी आवेदन किया है।
इसके अलावा राजस्थान से दस, हिमाचल से छह,
चंडीगढ़ और महाराष्ट्र से पांच-पांच,
मध्य प्रदेश से चार,
छत्तीसगढ़ से तीन,
आंध्र प्रदेश,
बिहार और कर्नाटक से दो-दो, उड़ीसा और तमिलनाडु से एक-एक उम्मीदवार ने आवेदन किया हुआ है।
अगर किसी भी जगह पर कोरोना कर्फ्यू लगा हुआ होगा तो स्टाफ नर्स भर्ती के उम्मीदवारों के लिए विशेष छूट दी जाएगी।
अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी की ओर से जारी आदेश के मुताबिक, उम्मीदवार का प्रवेश पत्र और फोटो आईडी ही उसका कर्फ्यू पास माना जाएगा। इस आधार पर उन्हें आवागमन में राहत दी जाएगी।शासन ने परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक को निर्देश दिए हैं कि वह परीक्षा के दिन उम्मीदवारों के दून, हल्द्वानी बस स्टैंड या रेलवे स्टेशन से परीक्षा केंद्र के बीच रोडवेज बसें संचालित करें ताकि उम्मीदवारों को अपने परीक्षा केंद्र तक पहुंचने में किसी तरह की भी परेशानी न हो।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here