हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

उत्तराखंड के लिए एक बार फर दुःखद खबर है।
बता दे कि 55 बंगाल इंजीनियरिंग में कार्यरत जवान सचिन कंडवाल के शहीद होने की खबर सामने आई है। वे चमोली जिले के नारायण बगड़ ब्लॉक के कंडवाल गांव के रहने वाले थे। सचिन कंडवाल अभी कुछ वक्त पहले ही घर आए थे। छुट्टियां पूरी होने के बाद वो वापस ड्यूटी जॉइन करने गए थे। खबर है कि प्रयागराज से दिल्ली आते समय एक सड़क दुर्घटना में उनका निधन हो गया। उनके निधन की खबर जिला प्रशासन देहरादून ने उनके परिजनों को राजीव नगर धर्मपुर निवास पर जाकर दी। 
सचिन कंडवाल के परिजन देहरादून के धर्मपुर में किराए के मकान पर रहते हैं। सचिन कंडवाल की 1 साल पहले सगाई हुई थी। कुछ वक्त बाद उनकी शादी की भी तैयारी थी। सचिन का छोटा भाई भी भारतीय सेना में तैनात है। खबर है कि सचिन का पार्थिव शरीर आज देहरादून लाया जाएगा। इसके बाद हरिद्वार में सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार होगा। सिर्फ 24 साल की उम्र में एक परिवार ने अपना बेटा खो दिया।
उत्तराखंड के पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत व केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने ने सचिन का श्रद्धांजलि दी है।
पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सोशल मीडिया में डाले अपने सन्देश में लिखा है कि प्रयागराज से दिल्ली आते समय रोड दुर्घटना में अपना फर्ज निभाते हुए जोशीमठ, चमोली मूल के और वर्तमान समय में देहरादून निवासी, 55 बंगाल इंजीनियरिंग के 24 वर्षीय सचिन कंडवाल जी शहीद हुए हैं।
सैन्य धाम उत्तराखंड के अपने वीर शहीद के बलिदान को शत-शत नमन करता हूं। ईश्वर पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें व शहीद के परिजनों को धैर्य प्रदान करें। हम सदैव शहीद के परिजनों के खड़े हैं। जय हिंद

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here