पहाड़ पर बनी फिल्म में नैनीताल के कलाकारों ने दिखाया दम,अमेरिका में मिला बड़ा अवार्ड

हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

नैनीताल: पहाड़ के लोगों में अनेकों कलाओं का समावेश है। यह समावेश भी कहीं ना कहीं पर्यटकों को पहाड़ों और पहाड़ियों की ओर खींचने का काम करता है। लिहाजा पहाड़ में कुछ मूल समस्याएं भी हैं, जिन पर समय समय पर चर्चाएं होती आई है। इस बार ऐसी ही एक समस्या पर फिल्म बनी। पहाड़ी कलाकारों ने भी उसमें अभिनय किया। अब इस फिल्म को अमेरिका के लॉस एंजिलिस में अवार्ड मिला है।

मुंबई निवासी निर्माता मौली सिंह और लेखक, निर्देशक अजीत पाल सिंह द्वारा बनाई गई फिल्म फायर इन द माउंटेन को 19वें भारतीय फिल्म फेस्टिवल लॉस एंजिल्स में बेस्ट फीचर फिल्म का ऑडियंस अवार्ड मिला है। यह फिल्म पहाड़ में सड़क जैसी मूलभूत समस्या पर आधारित है। इस फिल्म में नैनीताल व आसपास के कई अभिनेताओं ने काम किया है।

बता दें कि 82 मिनट लंबी इस शॉर्ट फिल्म की शूटिंग दो साल पहले पिथौरागढ़, मुनस्यारी व अल्मोड़ा आदि जगहों पर की गई है। इस फिल्म में साफ सीधा पर्वतीय इलाकों के गांवों में सड़क ना होने से पैदा होने वाली परेशानियों पर चोट की गई है। गांवों की इलाज संबंधी और बच्चों की पढ़ाई संबंधी दिक्कतों को इस फिल्म में बखूबी दर्शाया गया है।

इन अभिनेताओं ने किया काम

मुकेश धस्माना (अभिनेता/ग्राम प्रधान)

विनम्रता राही (अभिनेत्री)

मदन मेहरा (अभिनेता/डॉक्टर)

जावेद हुसैन (अभिनेता/पुलिस अधिकारी)

मयंक गैड़ा (बाल कलाकार/)

नैनीताल के लिए यह फिल्म और भी खास इसलिए हो जाती है क्योंकि यही कह अभिनेता मुकेश धस्माना ने फिल्म में ग्राम प्रधान का किरदार निभाया है।उनका किरदार ही वह कारण है जिसकी वजह से गांव में सड़क नहीं बन पा रही है। वह सड़क के लिए प्रयास कर रही अभिनेत्री विनम्रता राही की मजबूरी का फायदा भी उठाते हैं। इसके अलावा मदन मेहरा, मयंक गैड़ा भी नैनीताल निवासी हैं।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here