Wednesday, June 12, 2024
Homeउत्तराखंडयमुना/दून वैली मे जोन परिवर्तन पर कांग्रेस को नही थी आपत्ति: ...

यमुना/दून वैली मे जोन परिवर्तन पर कांग्रेस को नही थी आपत्ति: चौहान… ऒर कहा अपने किये पर पछतावा नही, बल्कि दूसरो पर तोहमत लगा रही कांग्रेस

यमुना/दून वैली मे जोन परिवर्तन पर कांग्रेस को नही थी आपत्ति:चौहान

अपने किये पर पछतावा नही, बल्कि दूसरो पर तोहमत लगा रही कांग्रेस

देहरादून 7 फ़रवरी ,

भाजपा ने कहा कि यमुना नदी/ दून वैली को रेड जोन से ऑरेंज जोन मे करने की जानकारी को लेकर कांग्रेस ढोंग कर रही है और जब यह परिवर्तन हुआ तब उसने इस पर कोई आपत्ति नही की। पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार मे घपले और घोटाले होते रहे और जिम्मेदार आँख बन्द कर नाटक करते रहे और अब सरकार को बदनाम करने का खेल चल रहा है।
भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने कहा कि आज कांग्रेस कि स्थिति यह है कि वह तथ्यों से परे बात कर रही है और अपने ही बुने जाल मे उलझ रही है। उन्होंने कहा कि जिस क्षेत्र यमुना नदी / दून वैली क्षेत्र जहां एनजीटी द्वारा जीएमवीएन के दो खनन के लॉट सहित एक अन्य क्रशर पर रोक लगाई है, उस दून वैली क्षेत्र में 1 फ़रवरी 1989 से रेड ज़ोन में होने कारण भारत सरकार से इंडस्ट्री एवं माइनिंग पर प्रतिबंधित था ।

7 मार्च 2016 को केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड द्वारा इसे ओरेंज जोन घोषित कर दिया गया है । साथ ही सुनिक्षित किया कि भविष्य में तय नियमों का परिपालन राज्य सरकार द्वारा कराया जाएगा । यहां गौरतलब है उस समय राज्य की कांग्रेस सरकार को इस पर कोई आपत्ति नही थी । आगे इसी आधार पर 6 जनवरी 2020 को दून वैली नोटिफिकेशन को मोडीफाई किया गया।
कुछ पक्षो ने एनजीटी को भ्रामक व अधूरी जानकारी दी, जिसके चलते दून घाटी में खनन पर तात्कालिक रोक लगी है । एनजीटी में शिकायत की गई कि क्रेसर ने अनुमति को लेकर नियमों का उलघ्घन किया है । जबकि हकीकत यह है कि राज्य सरकार के तय नॉर्म्स के अनुशार ही क्रेसर संचालित किया जा रहा था और न ही पट्टे का किसी तरह का ट्रांसफर हुआ है । लिहाजा अलग से दोबारा एनजीटी से अनुमति की जरूरत नही थी ।

गलत व अधूरी जानकारी देने के चलते मिले स्टे को लेकर कांग्रेस द्वारा इस तरह का वातावरण बनाया जा रहा है जिससे सरकार की छवि खराब हो और बाहरी खनन माफियाओं को बढ़ावा मिले। इसी घाटी में यमुना नदी के दूसरी और हिमाचल में बड़े पैमाने पर खनन हो रहा है और नदी के इस तरफ हमारे क्षेत्र में लगातार राज्य के राजस्व और निर्माण कामों को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से इस तरह की कानूनी अड़चने डाली जा रही है । ताकि निर्माण के लिए कच्चे माल की आपूर्ति राज्य के बाहर बैठेh उनके हितचिंतकों के माध्यम से हो।
चौहान ने कहा कि सरकार पारदर्शिता के साथ भर्ती प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की दिशा मे कार्य कर रही है। परीक्षाएं समय पर होगी जिससे युवाओं के मनोबल पर बुरा असर नही पड़ेगा और दूसरी और नकल माफियाओं पर कड़ी कार्यवाही जारी रहेगी यह मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहले ही स्पष्ट कर चुके है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस काल मे हुए घपले घोटालों की परतें उखड़ कर निकल रही है और इससे कांग्रेसी बेचैन है। आज भर्ती के घोटालेबाज जेल जा रहे हैं तो कांग्रेस परेशान है, क्योंकि उनकी परंपरा मामलों को दबाने की रही। जबकि भाजपा के एजेंडे मे भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments