Hemkund Sahib: जो बोले सो निहाल…के जयकारों के साथ खुले कपाट

जो बोले सो निहाल… के जयकारों के साथ श्री हेमकुंड साहिब के कपाट रविवार को सुबह दस बजे विधि विधान से खोल दिए गए। पंच प्यारों की अगुवाई में पांच हजार श्रद्धालु इस क्षण के साक्षी बने। करीब नौ बजे पंच प्यारों के अगुवाई में गुरुग्रंथ साहिब को दरबार साहिब में लाया गया।

रविवार सुबह दस बजे पंच प्यारों की अगुवाई ने पांच हजार श्रद्धालुओं ने हेमकुंड साहिब में मत्था टेका। पवित्र सरोवर में श्रद्धालुओं ने स्न्नान किया। पंच प्यारों की अगुवाई में गोविंदघाट गुरुद्वारे से पांच हजार तीर्थयात्रियों का पहला जत्था शनिवार दोपहर घांघरिया पहुंचा था। गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब मैनेजमेंट ट्रस्ट के साथ ही जिला प्रशासन की ओर से हेमकुंड साहिब, घांघरिया व अन्य यात्रा पड़ावों में सभी यात्रा तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड : ये अजब गजब हुवा दुःखद है परीक्षा के दौरान कक्षाओं में घुसी मधुमक्खियां, तीन शिक्षकों समेत 55 बच्चों को दिया काट अंग्रेजी की हो रही थी परीक्षा, रद्द करनी पड़ी।

हेमकुंड टस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने बताया कि कोरोना के दो साल बाद हेमकुंड साहिब की तीर्थयात्रा शुरू हो गई है। एक दिन में पांच हजार तीर्थयात्रियों को ही हेमकुंड साहिब जाने की अनुमति दी जाएगी। गोविंदघाट में चिकित्सकों के परामर्श के बाद ही तीर्थयात्रियों को हेमकुंड साहिब जाने की अनुमति दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here