टिहरी गढ़वाल के प्रतापनगर के दिजुला घाटी में पैदल जा रहे नवविवाहित पति पत्नी की गहरी खाई में गिरने से मौत हो गई। जानकारी के अनुसार नवविवाहिता का पैर फिसल गया उसे बचाने के लिए पति कूदा और दोनों ही करीब 500 मीटर गहरी खाई में गिर गए और दोनों की हादसे में दुखद मौत हो गई।

इलाके के खमनोर ग्राम प्रधान सिलारी सूरज रमोला के अनुसार मोहन लाल, गुना देवी की पिछले माह ही शादी हुई थी। मोहनलाल दिचलि गाँव का निवासी है। और उसकी ससुराल सिलारी गांव में है। मोहनलल अपनी पत्नी के साथ अपनी ससुराल सिलारी आया था और आज दोनों वापस अपने गाँव जा रहे थे।

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री ने कहा कि जागरूकता पर सबसे अधिक जोर दिया जाए। टेस्टिंग की संख्या बढाई जाए और वैक्सीनैशन अभियान में भी तेजी लाई जाए। कङाई भी और दवाई भी, पर काम करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि होम आइसोलेशन की प्रभावी रणनीति बनाई जाए।

गाड़ी न मिलने के कारण मोहनलाल ने अपने दोस्त को बाइक लेकर लेने को बुलाया और अपने आप दोनों लोग पैदल ही चल दिए। ससुराल से लगभग 2-3 km आगे ही पहुचे थे कि अचानक गुना देवी का पैर फिसला और मोहनलाल पत्नी को बचाने के चक्कर में दोनों लगभग 500 मीटर गहरी खाई में गिर गए। जब दोस्त उनको लेने आया और उसने रास्ते में पूछा कि यहां से दो लोग भी गए तो लोगों ने कहा कि हां यहां से दो लोग गए लेकिन दोस्त ने कहा कि वे उस तरफ नहीं गए। तब कोरदी सिलारी के ग्रामीणों ने उनकी खोजबीन की तो रास्ते में उनका बैग मिला।

यह भी पढ़े :  पीएम मोदी के मंत्रिमंडल में पहाड़ के लाल निशंक को बड़ा और अहम मंत्रालय मिला , उत्तराखण्ड में ख़ुशी की लहर। सीएम त्रिवेन्द्र ने दी बधाई

जिसकी निशानदेही पर लोगों ने उनको खाई में ढूंढने का काम किया। दोनों लगभग 500 मीटर गहरी खाई में मिले। दोनों ही बेहोशी की हालत में थे। दोनों को ग्रामीणों द्वारा सड़क पर लाया गया। ग्राम प्रधान सिलारी सूरज रमोला ने 108 को फोन कर PHC हलेथ में फर्स्ट एड देने के बाद हायर सेंटर रेफर कर दिया गया, लेकिन उन दोनों की तब तक मौत हो गई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here