धामी सरकार 2.0 : मुख्यसेवक के तेवर से अफसरशाही में हड़कंप, CM पुष्कर धामी ने अब तक की ये बड़ी कार्यवाही

लोकप्रिय मुख्यमंत्री धामी ने अपने दूसरे कार्यकाल में मुख्यमंत्री के रूप में 23 मार्च को शपथ ली थी ओर लगभग अब तक उनके 58 दिन के कार्यकाल के भीतर उन्होंने भ्रष्टाचार पर अंकुश और पारदर्शी नीति लागू करने को प्राथमिकता दी।

धामी सरकार के कार्यकाल को अभी दो माह भी पूरे नहीं हुए लेकिन इस बीच धामी ने लापरवाह अफसरों पर शिकंजा कस दिया है
उन्होंने भ्रष्टाचार पर अंकुश और पारदर्शी नीति लागू करने को प्राथमिकता दी। इसके लिए वे टोल फ्री नंबर 1064 भी जारी कर चुके हैं, ताकि दूर-दराज का कोई भी व्यक्ति रिश्वत लेने वाले अफसर और कर्मचारी की सूचना इस नंबर पर दे सके।
वही अन्य गंभीर अनियमितताओं के आरोप में वे दो वरिष्ठ आईएफएस अफसरों को सस्पेंड भी कर चुके हैं। इन्हें जबरिया रिटायरमेंट देने के लिए प्रस्ताव भी भेजा गया है। मुख्यमंत्री धामी पहले ही ऐलान कर चुके हैं कि कि भ्रष्टाचार में लिप्त चाहे कोई छोटा हो या बड़ी किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

यह भी पढ़े :  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को विधानसभा, देहरादून से वर्चुअल माध्यम से जौहार क्लब मुनस्यारी द्वारा आयोजित 67वें वार्षिक खेलोत्सव के समापन समारोह में प्रतिभाग किया।

अपनी दूसरी पारी के दौरान अभी तक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने
● दो वरिष्ठ आईएफएस सस्पेंड, एक संबद्ध

● सहकारिता में चार एआर व चार महाप्रबंधक हटाए

● सहकारिता में ही एक जीएम व एक एआर के विरुद्ध प्रतिकूल टिप्पणी

● ऋषिकेश और चंपावत के पूर्व अधिशासी अभियंताओं से वसूली

● हेमकुंड रोपवे बनाने की बैंक गारंटी फर्जी पाए जाने पर मुकदमा

● भ्रष्टाचार पर अकुंश व पारदर्शी नीति को टोल फ्री नंबर 1064 किया जारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here