हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

दिल्ली से आज की बड़ी खबर चार धाम यात्रा को लेकर बड़ा मामला सरकार चार धाम यात्रा आम जनता के लिए खुलवाने के लिए गई है सुप्रीम कोर्ट लेकिन अब दिल्ली के एक वकील ने सुप्रीम कोर्ट में लगाई है याचिका राज्य सरकार की याचिका को खारिज करने की कही मांग चार धाम यात्रा को इजाजत ना देने की मांग की वकील ने वकील की दलील कुंभ मेले में यात्रा प्रोटोकॉल का पालन करवाने में फेल रही है सरकार।

बता दें कि इससे पहले उत्तराखंड हाईकोर्ट ने गुरुवार को चार धाम यात्रा पर लगी रोक को 28 जुलाई तक बढ़ा दिया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तराखंड हाईकोर्ट ने हिल्स स्टेशनों में पर्यटकों की भीड़ और उससे कोरोना नियमों का पालन न करा पाने को लेकर राज्य सरकार को फटकार लगाई है। हाईकोर्ट ने कहा कि कोविड काॅल में उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में कोरोना नियमों की उड़ती धज्जियां और सैलानियों की भारी भीड़ चिंता का विषय है।

यह भी पढ़े :  ऊर्जा प्रदेश में ऊर्जा मंत्री का एलान हर महीने फ्री दूगा 100 यूनिट बिजली : हरक सिंह रावत

हाईकोर्ट ने इससे पहले 28 जून को उत्तराखंड हाईकोर्ट ने सीमित संख्या में तीर्थयात्रियों के साथ चार धाम की यात्रा की अनुमति देने वाले राज्य मंत्रिमंडल के फैसले पर रोक लगा दी थी। इसके अलावा चार धाम तीर्थ स्थलों की लाइव स्ट्रीमिंग का आदेश दिया था।हाईकोर्ट ने कोविड-19 और खराब स्वास्थ्य तैयारियों को देखते हुए सरकार के फैसले पर फिलहाल रोक लगाई थी। इस बीच उत्तराखंड सरकार ने चार धाम यात्रा पर रोक लगाने के उत्तराखंड हाईकोर्ट के आदेश के खिलाफ मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव पिटीशन (एसपीएल) दायर की। बता दें कि इससे पहले 25 जून को, उत्तराखंड में राज्य मंत्रिमंडल ने 1 जुलाई से सीमित संख्या में स्थानीय लोगों के लिए चार धाम यात्रा को आंशिक रूप से खोलने का निर्णय लिया था।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here