आठ जनवरी को लेखपाल परीक्षा हुई थी। जब पता चला कि इस तरह से पेपर आउट किया गया है तो stf ने जांच की और त्वरित कार्रवाई करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तआर कर लिया है। लोक सेवा आयोग ने भी त्वरित निर्णय लेते हुए परीक्षा को निरस्त कर दिया है तथा पुनः परीक्षा की तिथि भी घोषित कर दी है
जो भी दोषी होगा उनके विरुद्ध अविलंब और कार्यवाही होगी!परीक्षाओं की शुचिता सुनिश्चित की जाएगी।परीक्षाओं को नकल विहीन बनाने के लिए शीघ्र ही हम सख्त कानून लेकर आ रहे हैं: मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी 

यह भी पढ़े :  उत्तराखंड में कोरोना की तीसरी लहर के खतरे के बीच 2044 बच्चे हुए संक्रमित, ऐसे कैसे होगा बचाव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here