Wednesday, June 12, 2024
Homeउत्तराखंडउपाध्यक्ष ने जिले में 20 सूत्रीय कार्यक्रम में डी श्रेणी पर आने...

उपाध्यक्ष ने जिले में 20 सूत्रीय कार्यक्रम में डी श्रेणी पर आने वाले विभाग पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को प्रदर्शन में सुधार के निर्देश दिए

उपाध्यक्ष ने जिले में 20 सूत्रीय कार्यक्रम में डी श्रेणी पर आने वाले विभाग पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को प्रदर्शन में सुधार के निर्देश दिए

20-सूत्रीय कार्यक्रम की नई वेबसाईट की प्रदर्शित की गई, जिसमें राज्य, जनपद एवं विकासखण्ड स्तर पर विभागवार योजनाओं की प्रगति देखी जा सकेगी।

उपाध्यक्ष 20-सूत्री कार्यक्रम एवं कार्यान्वयन समिति, उत्तराखण्ड ज्योति प्रसाद गैरोला ने पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को प्रदर्शन में सुधार के निर्देश दिए

 

उपाध्यक्ष 20-सूत्री कार्यक्रम एवं कार्यान्वयन समिति, उत्तराखण्ड ज्योति प्रसाद गैरोला की अध्यक्षता में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ 20-सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा बैठक आहूत की गई है पढ़े पूरी ख़बर

 

ऋषिपर्णा सभागार कलैक्ट्रेट परिसर में उपाध्यक्ष 20-सूत्री कार्यक्रम एवं कार्यान्वयन समिति, उत्तराखण्ड ज्योति प्रसाद गैरोला की अध्यक्षता में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ 20-सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा बैठक आहूत की गई है। अक्टूबर माह में 20 सूत्रीय कार्यक्रम की समीक्षा में जनपद देहरादून के प्रथम आने पर जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी एवं उनकी टीम को बधाई दी तथा आगे आने वाले समय जहां थोड़ी कमियां है उनमें सुधार किये जाने पर बल दिया। इस अवसर पर 20-सूत्रीय कार्यक्रम की नई वेबसाईट की प्रदर्शित की गई, जिसमें राज्य, जनपद एवं विकासखण्ड स्तर पर विभागवार योजनाओं की प्रगति देखी जा सकेगी।
मा० उपाध्यक्ष 20-सूत्री कार्यक्रम एवं कार्यान्वयन समिति, उत्तराखण्ड ने विभागों की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन में सरलीकरण लाया जाए ताकि अधिक से अधिक पात्र लाभार्थियों को योजनाओं से लाभान्वित किया जा सके तथा माईक्रो स्तर पर योजनाओं की प्रगति को बढाने के प्रयास किये जाएं। उन्होंने सरकार की ध्वजवाहन योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन के साथ ही योजनाओं में सफलता की कहानियों के वीडियो/फोटो बनाते हुए प्रदर्शित करने पर बल दिया ताकि अधिक से अधिक लोगों को योजनाओं की जानकारी प्राप्त हो तथा वे भी योजनाओं से लभान्वित होने के लिए प्रेरित हो सकें। उन्होंने कहा कि अधिकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में लक्ष्य तक ही सीमित न रहे, बल्कि योजनाओं को प्रभावी ढंग से धरातल पर उतारें, ताकि योजनान्तर्गत किये गए कार्य प्रासंगिक हों तथा लम्बे समय तक प्रभावी रहे। उन्होंने जल जीवन मिशन के कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि आने वाले समय में पानी की सबसे बड़ी चुनौती है, इसके लिए सम्बन्धित विभाग आपसी समन्वय से जल स्त्रोत को पुनर्जीवन एवं रिचार्ज रखने हेतु मिलकर कार्य करें।
मा० उपाध्यक्ष 20-सूत्री कार्यक्रम एवं कार्यान्वयन समिति, उत्तराखण्ड ने कहा कि अभी तक जिलों की रैकिंग करते हैं, अब ब्लॉक स्तर की रैकिंग का सुझाव प्राप्त हुआ है, जिससे प्रदेशभर के विकासखण्डों का डाटा प्राप्त हो सके, जिससे यह भी जानकारी प्राप्त हो सके कि किन विकासखण्डों में योजनाओं का प्रभाव एवं योजनाओं के क्रियान्वयन में कमी है। ऐसे जगहों पर योजनाओं के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु सुधार किया जा सके।
मननीय उपाध्यक्ष के निर्देशों के क्रम में 20 सूत्रीय कार्यक्रम के संकेतक के अलावा ध्वजवाहक योजनाओं, भारत सरकारी महत्वपूर्ण योजनाओं तथा आकाशीं विकासखण्डों के सम्पूर्ण विकास के लिए बनाए गए 100 संकेतकों का शोध अधिकारी 20 सूत्रीय कार्यक्रम जे.सी चन्दोला ने प्रस्तुतिकरण दिया। सूचना प्रौद्यागिकी विभाग के सहयोग से 20 सूत्रीय कार्यक्रम की नई वेबसाईट तैयार की गई है जिसको प्रदर्शित किया गया। वेबसाईट में योजनाओं की राज्य, जिला एवं विकासखण्डवार प्रगति आनलाईन देखी जा सकेंगी। वेबसाईट पर योजनाओं की प्रगति अद्यतन की जा सकेंगी, तथा रिपोर्ट का प्रकाशन भी आनलाईन किया जा सकेगा, जिसे राज्य, जिला, विकासखण्डवार आनलाईन देखा जा सकेगा। बताया कि उक्त वेबसाईट पर एमआईएस की व्यवस्था की जा रही है। माननीय उपाध्यक्ष ने जनपद में 20 सूत्रीय कार्यक्रम में डी श्रेणी पर आने वाले विभाग पीएमजीएसवाई के अधिकारियों को प्रदर्शन में सुधार के निर्देश दिए।
बैठक जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका एवं मुख्य विकास अधिकारी सुश्री झरना कमठान ने माननीय उपाध्यक्ष को योजनाओं की प्रगति के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी गई। अन्त में जिलाधिकारी ने सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि माननीय उपाध्यक्ष 20 सूत्री कार्यक्रम द्वारा दिए गए निर्देशों का अनुपालन करते हुए योजनाओं को प्रगति बढाने तथा सरकार की महत्वकांशी योजनाओं का लाभ पात्रों तक पंहुचाने हेतु कार्य करें। साथ ही जिन विभागों का प्रदर्शन लक्ष्य के अनुरूप नहीं वे योजनाओं में प्रगति बढाते हुए लक्ष्य फरवरी तक प्रगति बढाएं।
बैठक में निदेशक अर्थ एवं संख्या सुशील कुमार, जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका, मुख्य विकास अधिकारी सुश्री झरना कमठान, निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण विक्रम सिंह, जिला विकास अधिकारी सुशील मोहन डोभाल, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी शशिकांतगिरी, शोध अधिकारी 20 सूत्रीय कार्यक्रम जे.सी चन्दोला, सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments