वाह सरकार ये हुई न बात,जबरन धर्मांतरण पर 5 साल की कैद

राज्य सरकार ने जबरन धर्म परिवर्तन को गैरजमानती अपराध बनाया जी हां उत्तराखण्ड में अब जबरन साजिश और झूठ बोलकर किए जाने वाले धर्म परिवर्तन को उत्तराखण्ड सरकार ने अपराध घोषित कर दिया है … जिसमें एक से सात साल तक की सजा होगी … और जुर्माना भी भरना पड़ सकता है साथ ही धर्म परिवर्तन की नियत से किए जाने वाले विवाह भी अमान्य साबित होंगे ये महत्वपूर्ण फैसला कैबिनेट की बैठक में लिया गया ….. जिसमें धर्म स्वतंत्रता विधेयक को मंजूरी दे दी गई है …. अब धर्म परिवर्तन करने और करवाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी आपको बता दें की धर्म परिवर्तन में साथ देने वाले परिवार के सदस्यों व दोस्तों को भी इस एक्ट के दायरे में लाया जाएगा और आरोप सिद्ध होने पर उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी … और जाहिर सी बात है कि जब कार्रवाई होगी तो सजा भी भुगतनी होगी … आपको बता दें की कुछ समय से हिंदू शक्ति द्वारा जबरन धर्म परिवर्तन के खिलाफ मुहीम छेड़ी गई थी

जिसके परिणामस्वरूप कैबिनेट ने उत्तराखण्ड धर्म स्वतंत्रता विधेयक के मसौदे को मंजूरी दी उत्तराखण्ड में हिंदुओं की मांगों को लेकर कुछ समय से हिंदू शक्ति आवाज उठा रहा है हिंदू शक्ति के संरक्षक हितेश भारद्वाज ने हिंदुओं की सुरक्षा पर चिंता की थी ….. और प्रदेश के मुखिया से भी निवेदन किया था अब उत्तराखण्ड धर्म स्वतंत्रता विधेयक के मसौदे को मंजूरी मिलने के बाद हिंदू शक्ति के अध्यक्ष हितेश भारद्वाज ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत का ह्रदय से आभार जताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here