राम जी भला करे।
पर चाहे भाजपा सगठन बोले या सरकार की विद्यायक कुँवर प्रणव चेंपियन ओर देशराज के बीच सब ठीक हो गया है तो ये बात इन दोनों विधायक के मिसाज को देखकर पचती नही है। क्योकि दोनों ही कही बार कुछ भी बयान कब कहा दे दे कोई नही जानता । ख़बर तो ये है कि अगर ये दोनों विधायक नही मामले को सुलझाते तो इनके खिलाफ इस बार पार्टी इनको 6 महीने के लिए पार्टी की प्रथामिक सदयस्ता से निष्कासित कर देती
ओर इनकी सुख सुविधाओं मै दबा कर कटौती कर देती।स्याद इस वजह से दोनों ने मामले को सुलझाने में ही दिलचस्पी अभी दिखाई।

फिलहाल ये जरूर कह सकते है कि मामला कुछ समय के लिए शांत हो गया है ।पर कम समय के लिए।
तो क्या ये मान लिया जाए कि अब आपसी विवाद सुलझ गया है तो त्रिवेन्द्र सरकार का विधायक एक महीने के अंदर जेल नही जाएगा!
ये बात हम इसलिए कह रहे है कि कुँवर प्रणव चैपियन ने खुद कहा था कि भाजपा विधायक देशराज ने फर्जी वाडा किया है और उसे जेल एक महीने के अंदर होगी।
अब देखते है जीरो टॉलरेंस वाले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत पूरे मामले मे जांच कराते है या नही।


बहराल तो इस सुलझे विवाद से ये बात समझ आ रही है कि त्रिवेन्द्र सरकार ने अपने विधायक को जेल जाने से बचा लिया है।
चलो ये मामला तो शांत हो गया पर अब उत्तराखंड से क्यो एक बार फिर डिप्टी सीएम की माग उठने लगी है। वो भी मैदानी क्षेत्र से ।हमने कुँवर चैपियन को मीडिया में ये बात करते हुए सुना है कि उनकी प्रदेश प्रभारी स्याम जाजू से बात हुई थी विचार हुवा था कि राज्य मे डिप्टी सीएम के पद पर कुँवर प्रणव कि चैपियन को बैठाया जाए !, कुँवर प्रणव कहते है कि जब उत्तर प्रदेश ओर अन्य राज्यो मै डिप्टी सीएम हो सकते है तो यहां क्यो नही। बहराल इस बयान के मायने बहुत है जो समझ गया वो समझ गया और जा ना समझा वो इस बयान में उलझ ही जायेगा।
हम तो सिर्फ इतना कहते है कि पहाड़ी राज्य उत्तराखंड में आने वाले समय मे लगातार भविष्य मे कही परिसीमन होंगे और फिर भविष्य मे मैदानी क्षेत्र की सीटें बढ़ेगी और पहाड़ की घटेगी।
फिर डिप्टी सीएम क्या खुद सीएम भी राज्य के मैदानी क्षेत्रो से बनेंगे!

भाजपा से प्रेस विज्ञप्ति ये आई

मुख्यमंत्री की उपस्थिति में विधायक विवाद का पटाक्षेप ।

देहरादून 18 अप्रैल । भाजपा विधायकों के बीच चल रहे विवाद का आज मुख्यमंत्री की उपस्थिति में पटाक्षेप हो गया । जहाँ दोनों विधायकों को स्पष्ट रूप से हिदायत दी गई है कि वे भविष्य में पार्टी अनुशासन के विपरीत कोई कार्य नहीं करेंगे वहीं विधायकों ने परस्पर विवाद को समाप्त मानते हुए मिलकर कार्य करने का वायदा किया।
भाजपा विधायक कुँवर प्रणव चैम्पियन व देश राज कर्णवाल के बीच पिछले कुछ दिनों से चल रहा विवाद आज समाप्त हो गया । मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा दोनो विधायकों कुँवर प्रणव चैम्पियन व देश राज कर्णवाल को अपने आवास पर बुलाया गया। इस अवसर पर हुई बैठक में भाजपा प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल भी उपस्थित थे।
बैठक में पूरे प्रकरण पर मुख्यमंत्री ने गहरी नाराज़गी दिखाई । बैठक में दोनो विधायकों को स्पष्ट हिदायत दी गई कि वे ऐसा कोई कार्य नहीं करेंगे जो पार्टी के अनुशासन के विपरीत हो । बैठक में दोनो विधायकों ने परस्पर विवाद को समाप्त मानते सौहार्द पूर्ण तरीक़े से काम करने का वायदा किया तथा आश्वस्त किया कि भविष्य में इस प्रकार की स्थिति नहीं आएगी।

कांग्रेस पर प्रहार

दूसरी ओर भाजपा प्रदेश मीडिया प्रमुख डॉ देवेंद्र भसीन ने कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा कि उसे भाजपा के दो विधायकों के मामले में रुचि दिखाने उसका समाधान होने पर परेशान होने के स्थान पर पहले अपने घर में छिड़े संघर्ष की ओर देखना चाहिए।कांग्रेस में उत्तराखंड से लेकर देश भर में जो घमासान छिड़ा है ,कांग्रेस नेताओं को उसकी चिंता करनी चाहिए। कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी का वह बयान कांग्रेस के चरित्र को उजागर करने वाला है जिसमें उन्होंने कांग्रेस में गुंडों की महत्व दिए जाने की बात कही । उत्तराखंड का लूट कांड भी इसका ताज़ा उदाहरण है । उस पर कांग्रेस के ताजे ताजे नेता शत्रुघ्न सिन्हा को लेकर आज शुरू हुआ विवाद भी कांग्रेस नेताओं को दिखाई देना चाहिए।
सच यह है कि लोकसभा चुनाव में अपनी सुनिश्चित पराजय को देखते हुए कांग्रेस बौखलाई हुई है ।
उन्होंने कहा कि जहाँ तक महात्मा गांधी का सवाल है तो वे भाजपा के लिए अनुकरणीय हैं और हम उन्हें विश्व में मानवता के मसीहा के रूप में देखते हैं।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here