सुनो उत्तराखंड : उत्तराखंड मै चमकी बुखार को लेकर अलर्ट हो गया है ,सभी जिलों को एहतियात बरतने के निर्देश ।

 

आपको बता दे कि बिहार में चमकी बुखार मतलब (एक्यूट इनसेफ्लाइटिस सिंड्रोम) के प्रकोप के चलते देवभूमि में भी अब अलर्ट जारी कर दिया गया है। बता दे कि बृहस्पतिवार को मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से एहतियात बरतने के महत्वपूर्ण निर्देश दिए हैं। वही इस दौरान उन्होंने अन्य विभागों से भी लगातार समन्वय स्थापित करने को कहा है, ताकि, क्षेत्र में साफ-सफाई, स्वच्छ जल और खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित कराकर खतरनाक , हानिकारक जीवाणुओं को पैदा करने से रोका जा सके
वजी मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग में कहा कि उत्तराखंड में अभी तक एक्यूट इनसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) की परिस्थितियां सामने नहीं आई हैं। लेकिन बावजूद इसके सभी जनपदों को इसके लिए अलर्ट पर रखा गया है। वही इस संबंध में स्वास्थ्य महानिदेशक को तैयारियां और इसकी रोकथाम के लिए सभी जनपदों को एडवाइजरी जारी करने के निर्देश दिए हैं। ताकि, कोई मामला सामने आने पर इस बुखार को फैलने से तुरंत रोका जा सके। कुल मिलाकर उत्तराखंड का स्वास्थ्य महकामा पहले से अलर्ट रहकर हर तहत से सावधन रहना चाहता है। वही
मुख्य सचिव ने कहा कि बारिश का सीजन शुरू हो चुका है। ऐसे में कहीं जलभराव और गंदगी न हो इसके लिए नगर निगम से समन्वय स्थापित किया जाए। जल संस्थान को स्वच्छ पेयजल की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित कराने के लिए भी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए हैं।
वही अपर सचिव स्वास्थ्य एवं निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने कहा कि प्रदेश में इस बुखार के साथ-साथ स्वाइन फ्लू और अन्य वेक्टर जनित बीमारियों की रोकथाम और इलाज के लिए तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारियों को इस तरह के रोगों की निगरानी करने के निर्देश भी दे दिए हैं।
इस पूरी वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान वित्त सचिव अमित नेगी, स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. रविंद्र थपलियाल, निदेशक डॉ. आरके पांडेय, निदेशक डॉ. अमिता उप्रेती, अपर निदेशक डॉ एसपीएस नेगी और संचारी रोक नियंत्रण कार्यक्रम के राज्य नोडल अधिकारी डॉ. पंकज कुमार उपस्थित रहे। बहराल ये एक अच्छी पहल है इस तरह की बैठकों का होना। ताकि जरूरत पढने पर महकामा तैयार रहै।



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here