उत्तराखंड में अभी तक कोरोना
पॉजिटव मरीजों का आंकड़ा पहुच रहा है 2000 हज़ार के पास।

अब तक कुल  1942 लोगो में पाया गया कोरोना का सक्रमण ।

खुशी की बात है कि 1216 लोग ठीक होकर घर चले गये अपने।
25 लोगो की अब तक हो चुकी है मौत ।

 

ब्रेकिंग देहरादून

उत्तराखंड में कोरोना मरीजों का आंकड़ा बढ़कर हुआ 1942

आज अभी तक 97 नये मामले आये सामने

1216 मरीज अब तक ठीक होकर हुए हॉस्पिटल से डिस्चार्ज

प्रदेश में अभी 680 एक्टिव केस

प्रदेश में अब तक 25 कोरोना पीड़ितों की मौत

देहरादून में 21 कंटेन्मेंट जोन, हरिद्वार में 48 कंटेन्मेंट जोन, पौड़ी में 2 कंटेन्मेंट जोन, टिहरी में 10 कंटेन्मेंट जोन, यू एस नगर में 2 कंटेन्मेंट जोन

प्रदेश में कोरोना मरीज डबलिंग रेट 24.57 दिन

प्रदेश में कोरोना मरीज रिकवरी रेट 62.45%

तो वही
नाॅन कोविड लोकप्रिय श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल
में बढ़ने लगी मरीजों की तादाद दून अस्पताल के कोविड अस्पताल होने से नाॅन कोविड सामान्य मरीजों का रुख नाॅन कोविड अस्पताल की ओर बढ़ा
मास्क, सोशियल डिस्टेंसिंग व आवश्यक सावधानियां अपनाकर अस्पताल में पहुंच रहे मरीज़
सभी तरह के आॅपरेशन, सुपरस्पेशलिटी के आॅपरेशन, डिलीवरी के लिए मरीजों की संख्या बढ़ी।

नाॅन कोविड श्रेणी का अस्पताल होने के कारण लोकप्रिय श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में मरीजों की तादाद लगातार बढ़ने लगी है।
इसका असर अस्पतालों में दर्ज की जाने वाली ओपीडी व आईपीडी की संख्या में बढ़ोत्तरी के रूप मैं देखा भी जा रहा है।
सबसे बड़े लोकप्रिय अस्पताल श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में इन दिनों मरीजों की तादाद में तेज़ बढ़ोतरी दर्ज की गई हैं।
गम्भीर महिला रोगियों को गाॅधी शताब्दी अस्पताल से श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में रैफर किया जा रहा है।
वही मेडिसिन, जनरल सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, काॅर्डियोलाॅजी के मरीज अच्छी तादात में अस्पताल पहुंच रहे हैं।
नाॅन कोविड अस्पताल होने के कारण मरीजों को यहां आने में कोई परेशानी नहीं हैं। अस्पताल प्रबन्धन के अनुसार मुख्य गेट पर स्क्रीनिंग के लिए थर्मल स्कैनर लगाए गए हैं। संदिग्ध मरीज़ व कंटेंनमेंट ज़ोन से आने वाले मरीज़ों के लिए फीवर क्लीनिक की व्यवस्था की गई है।
अस्पताल के सभी विभागों की आॅपीडी व अन्य सुविधाएं सामान्य रूप से संचालित हो रही हैं।
वही अल्ट्रासाउंड, सीटी स्कैन व एम.आर.आई. डायलसिस सहित ब्लड सैंपलिंग व सभी तरह के एक्स-रे की सुविधा भी सामान्य रूप से जारी है।
वही श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डाॅ विनय राय ने जानकारी दी कि उपचार के लिए अस्पताल आने वाले मरीजों को डरने व घबराने की आवश्यकता नहीं हैं। आम जन घर से निकलते समय स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन का अनुपालन करें व आवश्यक सावधानियां अपनकर अस्पताल आएं। श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में सभी सेवाएं ओपीडी, आॅपरेशन व जाॅच सेवाएं खुली हैं। ऐसे मरीज़ जो चिकित्सकीय परामर्श, आॅपरेशन व महत्वपूर्णं जाॅचों को लाॅकडाउन के वजह से टाले हुए थे, वे अस्पताल में आकर सेवाओं का लाभ ले सकते हैं। डाॅ विनय राय ने बताया कि सामान्य सर्जरी व सुपरस्पेशलिटी के विभागों में नियमित सर्जरी की जा रही हैं। भारत सरकार की सभी आवश्यक गाइडलाइन्स का अनुपालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि स्त्री एवम् प्रसूति रोग विभाग, जनरल सर्जरी, न्यूरोसर्जरी, काॅर्डियोलाॅजी प्रोसीजर, काॅर्डियक सर्जरी, सीटीवीएस सर्जरी, यूरोलाॅजी सर्जरी आदि सहित अन्य विभागों से जुड़े मामलों में नियमित आॅपरेशन किए जा रहे है
श्रीमहंत इन्दिरेश अस्पताल में उपचार के लिए आने वाले मरीजों को डरने या आशंकित होने की आवश्यकता नहीं है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here