उत्तराखंड में प्रतिभाओं की कमी नहीं, सरकार आप पहचान जाओ तो बात बन जाए

उत्तराखंड के युवाओं को खेल से जोड़ा जाय तो राज्य की प्रतिभाओं को अपनी प्रतिभा निखारने का मौक़ा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा की उत्तराखण्ड खेलों की दृष्टि से उपयोगी राज्य सिद्ध हो सकता है। ये बात उन्होंने  ऑल इंडिया सीनियर रैंकिंग बैडमिण्टन चैम्पियनशिप के शुभारम्भ के अवसर पर कही। देहरादून, हरिद्वार, उधम सिंह नगर के मैदानी जिलों में खेल के लिए अच्छे स्टेडियम है। इसके अलावा 6500 फीट की ऊँचाई पर रॉसी स्टेडियम उत्तराखण्ड में है। रॉसी में बहुत जल्द ही हाई अल्टीट्यूट स्पोर्ट्स भी प्रारम्भ किए जाएंगे। सीएम रावत ने कहा उत्तराखण्ड में एडवेंचर पर आधारित खेलों का अच्छा स्कोप है। उत्तराखण्ड का क्लाइमेट खेलों के लिए बहुत उपयुक्त है। यहां पर बारह महिने खेलों का आयोजन किया जा सकता है साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड के खिलाड़ी विभिन्न खेलों क्रिकेट, हॉकी, बैडमिण्टन, फुटबॉल, एथलेटिक्स आदि खेलों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदेश के खिलाड़ियों को बधाई देते हुए सीएम ने कहा की हमारे खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में अपना स्थान बनाकर उत्तराखंड का सम्मान बढ़ा रहे हैं। इस अवसर पर सीएम रावत ने प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले खिलाड़ियों का उत्तराखण्ड आगमन पर स्वागत किया। ऑल इंडिया सीनियर रैंकिंग बैडमिण्टन चैम्पियनशिप के शुभारम्भ के अवसर पर विधायक  देशराज कर्णवाल, मनोज रावत,  पूर्व खेल मंत्री  नारायण सिंह राणा, आईजी संजय गुंज्याल, डीआईजी पुष्पक ज्योति आदि उपस्थित रहे।

 

Leave a Reply