उत्तराखंड पुलिस का बाइक लूट मामले में हैरतअंगेज खुलासा, गिरोह का किया पर्दाफाश, ऐसे देते थे लूट को अंजाम

हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

शेयर चैट के जरिये मुरादबाद के युवक से पायल बनकर संपर्क बनाने और फिर काशीपुर में बुलाकर बाइक लूट की घटना को अंजाम देने के मामले में पुलिस ने चार युवकों को गिरफ्तार किया है, इसमें युवती बनकर बात करने वाले एक युवक भी शामिल है। मामले में पु़लिस ने सीसीटीवी और कॉल रिकार्ड के जरिये अहम सुराग हासिल हुए जिसके जरिये पुलिस इन आरोपितों तक पहुंच सकी। मामले में युवती बनकर युवकों का ठगने का मामला सामने आने के बाद पुलिस ने इनके पूर्व में किए गए वारदात की भी कुंडली खंगाल रही है।

बाइक लूट

मामले का पर्दाफाश करते हुए एसपी काशीपुर प्रमोद कुमार ने बताया कि मौ इकराम पुत्र अलीमुद्​दीन ठाकुरद्वारा मुरादाबाद ने अपने मोबाइल पर शेयर चेट एप पर एक युवती का नंबर मिला। इस दौरान वाट्सएप के जरिये मैसेज आने लगे। इसके बाद वह युवती से वाट्सएप पर ही चैटिंग करने लगा इस दौरान दोनों की दोस्ती प्यार में तब्दील होती गई। युवती ने उसे बताया कि वह काशीपुर में एक बड़ी कंपनी में कार्यरत है और उसे मिलने मिलने की इच्छा जताई।

युवती से मिलने के लिए मंगलवार को युवक इकराम अपने तेहरे भाई आजम के साथ काशीपुर आ पहुंचा, इस दौरान चैट के जरिये इकराम युवती के संपर्क में था, आइजीएल कंपनी के पास से एक सड़क की तरफ उसे मोड़ने के लिए बोला और एक सुनसान जगह पर रूकने को कहा। तकरीबन 10 मिनट बाद उसी जगह पर बाइक से तीन युवक पहुंचे और उन्होंने इकराम काे इस इलाके में कहां घूमने की बात पूछी और उसके बाद उसपर हमला बोलते हुए बाइक की चाभी निकाल ली। इस दौरान उन युवकों ने धमकी देते हुए इकराम और उसके भाई को भागने काे कहा और वहां से तीनों बाइक लूट कर फरार हो गए। मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए जांच शुरू की।

एएसपी अक्षय प्रह्लाद कोडे के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। टीम ने सबसे पहले पूरे रास्ते के सीसीटीवी फुटेज खंगालने शुरू किए। इस दौरान जिस फोन नंबर का इस्तेमाल किया गया उसका सीडीआर और कॉल डिटेल के आधार पर जांच आगे बढ़ाई गई। इस दौरान पुलिस को पता चला कि जो युवती पायल के नाम पर इकराम से बातचीत ओर चैटिंग हो रही थी वह नंबर एक युवक चला रहा है जिसका नाम आजम रजा पुत्र लियाकत निवासी आलू फार्म हैं। मामले में इनपुट मिलते ही पुलिस ने इनकी तलाश तेज कर दी। इस दौरान खोकरा मंदिर के पास से पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर अर्जुन पुत्र गुड्डू निवासी खड़गपुरा, अकाश पुत्र महेन्द्र खड़गपुर देवीपुरा, आजम रजा पुत्र लियाकत मिंया आलू फार्म व एक किशोर को गिरफ्तार किया गया। मामले में पूछताछ के बाद चारों की कब्जे से लूटी गई मोटर साइकिल बरामद की गई।

मामले में गिरोह के सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस की जांच में आरोपित इकबाल ने बताया कि हमने पैसे की लालच में यह योजना बनाई। मोहम्मद इकराम को बुलाकर उसकी मोटसाइकिल लूट की घटना अंजाम देने की याेजना थी। बाइक को हम बेंचने के फिराक में भी थे। घटना के दिन पूरी योजना के साथ पायल असली नाम रजा भी मौके पर मौजूद थी। मुरादाबाद युवक के निकलने से पहले लूट की सारी योजना तैयार कर ली गई थी। युवक के आइजीएल पहुंचने से पहले ही उसे लोकशन के जरिये सुनसान जगह की तरफ बुलाया गया और रजा झाड़ियाें में छिप गया। इस दौरान तीनों युवकों ने इकराम की बाइल लूट की घटना को अंजाम दिया।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here