हमारे व्हॉट्सपप् ग्रुप से जुड़िये

शाम को होनी थी बेटी की विदाई, सुबह सवेरे कोरोना से हो गई बाप की मौत

चंपावतः कोरोना ने कई लोगों की जिंदगी तबाह कर दी। कई घरों के चिराग बुझ गये तो कई खुशहाल घरों में मातम पसर गया। मामला चंपावत का है। जहां एक रिटायर्ड आईटीबीपी के सूबेदार का अपनी दुलारी बेटी को अपने हाथों विदा करने का सपना शादी की ठीक सुबह टूट गया।

दुल्हन के कोरोना पॉजिटिव पिता की शादी की सुबह जिला अस्पताल में मौत हो गई। पिता की मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया। पल भर मेंं बेटी की शादी की खुशियां मना रहे परिवार में कोहराम मच गया। बेटी की डोली उठने से पहलेे एक बाप की अर्थी घर से उठ गई। पूरा माहौल गमगीन हो गया।

जिले के कोलीढेक निवासी छत्तर सिंह की बेटी का 25 मई को विवाह होनी थी। सोमवार को हल्दी रस्म का आयोजन भी हो गया था। मंगलवार को खटीमा से दूल्हे के पक्ष के पांच लोग आने थे। खटीमा से दूल्हे पक्ष के लोग घर से निकलने ही वाले थे, तभी दुल्हन के पिता के मौत हो गई। शादी के कपड़ों में सजी दुल्हन की खुशियां पल भर में बर्बाद हो गई। जिस घर में दूल्हा का इंतजार हो रहा था वहां मातम पसर गया। बेटी की डोली से पहले बाप की अर्थी घर से निकल गई।

दुल्हन केे पिता की मौत के बाद शादी टाल दी गई। खटीमा से आने वाली बरात को भी आनन-ानन रोकना पड़ा। जानकारी देते हुए जिला अस्पताल के पीएमएस डा. आरके जोशी ने बताया कि कोलीढेक निवासी छत्तर सिंह 63 वर्षीय की कोरोना संक्रमण से सोमवार रात मौत हो गई। ऑक्सीजन का स्तर बेहद कम होने गंभीर संक्रमण केे चलते उसकी मौत हो गई। छत्तर सिंह की मौत के बाद पूरे परिवार में कोहराम मच गया। जिस बाप ने अपनी बेटी की विदाई के सपने पाले थे, विदाई से पहले उसी बाप की अर्थी घर से निकल गई। जिसके बाद बरात को टाल दिया गया।

यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here