उर्जा प्रदेश का सपना होगा साकार ! सीएम लगाएंगे आलाकमान से गुहार

सूबे के मुख्यमंत्री जल विधुत परियोजनाओं के संबंध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी व साधवी उमा भारती से वार्ता करने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री 15 फरवरी को दिल्ली में मुख्यमंत्रियों की बैठक में किसाऊ व लखवाड़ जल विधुत परियोजनाओं के सम्बंध में हिमाचल और राजस्थान के मुख्यमंत्रियों से भी विचार-विमर्श करेंगे। सीएम दिल्ली में इस बात को पुरजोर तरीके से उठायेंगे की जल विधुत परियोजनाओं के बंद होने से उत्तराखंड को 1 हज़ार करोड़ रुपये की बिजली खरीदनी पड़ रही है। जबकि हिमाचल प्रदेश 1 करोड़ की बिजली को बेच रहा है। इसके साथ ही सीएम जल विधुत परियोजनाओं के सम्बंध में विशेष दल की रिपोर्ट को भी केंद्रीय मंत्रियों के समक्ष रखेंगे। आपको बता दें की पूर्व में सुप्रीम कोर्ट द्धारा 23 परियोजनाओं को बंद करने की सलाह दी गई जबकि राज्य की 29 परियोजनाएं पहले से ही बंद पड़ी हुई हैं। बहरहाल देखना ये होगा की 15 फरवरी को राज्य हित के लिए सीएम त्रिवेंद्र और किन-किन मुद्दों को पीएम और केंद्रीय मंत्रियों के आगे उठाते हैं। क्योंकि जनता को आस है की डबल नहीं ट्रिपल इंजन की सरकार हमारी है और राज्य के विकास के लिए केंद्र हर सम्भव मदद उत्तराखंड राज्य की करेगा।

Leave a Reply